रफाल पर राहुल गांधी के बयान के खिलाफ मीनाक्षी लेखी की सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि राफेल मामले में गोपनीय दस्तावेज को भी बहस का हिस्सा बनाने के SC के फैसले को कांग्रेस अध्‍यक्ष ने गलत तरीके से पेश किया है.

रफाल पर राहुल गांधी के बयान के खिलाफ मीनाक्षी लेखी की सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका

नई दिल्‍ली: राहुल गांधी के खिलाफ BJP सांसद मीनाक्षी लेखी ने सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दाखिल की है. उन्‍होंने कहा कि राफेल मामले में गोपनीय दस्तावेज को भी बहस का हिस्सा बनाने के SC के फैसले को कांग्रेस अध्‍यक्ष ने गलत तरीके से पेश किया है. लेखी ने राहुल पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्‍होंने 'चौकीदार चोर है' के अपने बयान को सुप्रीम कोर्ट के बयान की तरह प्रस्तुत किया. उन्‍होंने राहुल पर आरोप लगाते हुए कहा कि रफाल की पुनर्विचार याचिका के मामले में SC के फैसले के बाद राहुल गांधी ने कहा था कि 'सुप्रीम कोर्ट ने माना है कि चौकीदार चोर है!' कोर्ट सोमवार को सुनवाई को मामले की सुनवाई करेगा.

राहुल ने पीएम मोदी को दी खुली बहस की चुनौती
इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को रायबरेली में मीडिया से बातचीत के दौरान रफाल के मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी को फिर से खुली बहस की चुनौती दी. राहुल ने कहा कि वह प्रधानमंत्री से खुली बहस के लिए तैयार हैं और जरूरत पड़े तो वह लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास पर जाकर भी बहस कर सकते हैं. राहुल बोले, 'मैं गारंटी देता हूं कि जिस दिन प्रधानमंत्री मुझसे बहस कर लेंगे, किसी से आंख नहीं मिला पाएंगे.' उन्होंने कहा, 'मोदी ये समझा दें कि अनिल अंबानी को राफेल का ठेका कैसे दे दिया.'

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'जिस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुझसे बहस करने की चुनौती स्वीकार लेंगे, उस दिन दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.' उन्होंने कहा, 'जिस दिन बहस हुई, उस दिन देश को पता चल जाएगा कि चौकीदार चोर है.'

उन्होंने कहा, 'भारतीय इतिहास में ऐसे कई लोग रहे हैं जो यह सोचते थे कि वे अजेय हैं और भारत के लोगों से बड़े हैं (लेकिन) भारत के लोगों से बड़ा कोई नहीं है...उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ने पांच साल में भारत के लोगों के लिए कुछ नहीं किया. गांधी ने तंज करते हुए कहा कि उनका (मोदी का) अजेय होना चुनाव नतीजों के बाद स्पष्ट दिख जाएगा.

(इनपुट: एजेंसी भाषा से भी)