कश्मीर के हालात में सकारात्मक बदलाव, देश विरोधी तत्व बने पंगु: गृह राज्यमंत्री

केंद्र सरकार ने पांच अगस्त को भारतीय संविधान के अनुच्छेद-370 को रद्द कर दिया था.

कश्मीर के हालात में सकारात्मक बदलाव, देश विरोधी तत्व बने पंगु: गृह राज्यमंत्री
केंद्र सरकार ने पांच अगस्त को भारतीय संविधान के अनुच्छेद-370 को रद्द कर दिया था. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय (Nityanand Rai) ने रविवार को कहा कि केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद-370 (Article 370) को निष्प्रभावी किए जाने के बाद जम्मू एवं कश्मीर में सकारात्मक बदलाव देखने को मिले हैं. मंत्री ने कहा कि इस कदम ने देश विरोधी तत्वों को पंगु बना दिया है, जो तब से कश्मीर घाटी में हिंसक माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं.

केंद्र सरकार ने पांच अगस्त को भारतीय संविधान के अनुच्छेद-370 को रद्द कर दिया था. उसी दिन केंद्र ने जम्मू एवं कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने का फैसला किया था. अब जम्मू-कश्मीर विधानसभा के साथ और लद्दाख बिना विधानसभा के केंद्र शासित प्रदेश बन चुके हैं.

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के 55वें स्थापना दिवस के अवसर पर यहां बीएसएफ के छावला शिविर में राय ने कहा कि अर्धसैनिक बल सीमा पर एक आभासी अभेद्य दीवार बनाकर घुसपैठियों के गलत प्रयासों को लगातार विफल कर रहा है.

राय ने कहा, "हाल के दिनों में लिए गए फैसलों के बाद से जम्मू-कश्मीर की स्थिति में सकारात्मक बदलाव आया है. इस कदम से देश विरोधी तत्व भड़क गए हैं और वे तब से घाटी में हिंसक माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं."

उन्होंने बीएसएफ को दुनिया की सबसे बड़ी सीमा सुरक्षा बल के रूप में चिह्न्ति किया. राय ने तस्करी व अन्य अपराधों के माध्यम से और अस्थिरता का माहौल बनाने के उद्देश्य से देश के दुश्मन की मौजूदा कोशिशों को नाकाम करने के लिए अर्धसैनिक बल के जवानों के प्रयासों की सराहना की.