CWC: बंगाल में खाता नहीं खुला, केरल-असम में क्यों पिछड़े; जानिए नतीजों पर Sonia Gandhi की प्रतिक्रिया

यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने कहा, 'हमें इन झटकों का संज्ञान लेने की जरूरत है. यह कहना कम होगा कि हम बहुत निराश हैं.' कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की वर्चुअल बैठक में प्रस्ताव रखा गया कि चुनावी हार के कारणों का पता लगाने के लिए एक समूह का गठन होगा.

CWC: बंगाल में खाता नहीं खुला, केरल-असम में क्यों पिछड़े; जानिए नतीजों पर Sonia Gandhi की प्रतिक्रिया
फाइल फोटो

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने सोमवार को कहा कि पार्टी को कई राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में हुई हार के बाद अपनी असफलताओं पर ध्यान देने की जरूरत है. सोनिया ने कांग्रेस के प्रदर्शन पर चिंता जताते हुए ये भी कहा कि नतीजों से साफ है कि कांग्रेस में चीजों को दुरुस्त करना होगा और सही सबक निकालने के लिए जमीनी हकीकत का सामना करना होगा.

हार की वजह का पता लगाएगा समिति

यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने कहा, 'हमें इन गंभीर झटकों का संज्ञान लेने की जरूरत है. यह कहना कम होगा कि हम बहुत निराश हैं.' कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की वर्चुअल बैठक में यह प्रस्ताव रखा कि चुनावों में हुई हार के कारणों का पता लगाने के लिए एक समूह का गठन किया जाएगा. कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने कहा कि अगले 48 घंटे के भीतर समूह का गठन कर दिया जाएगा और यह जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट देगा.'

ये भी पढे़ं- West Bengal violence: BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने बंगाल हिंसा पर दिया विवादित बयान, कहा- यहां ताड़का की सरकार

बंगाल में क्यों नहीं खुला खाता?

सोनिया गांधी ने कहा, 'पार्टी को केरल और असम की हार पर गहन मंथन करने की जरूरत है. हम पश्चिम बंगाल में खाता क्यों नहीं खोल पाए. ये भी चिंता का विषय है. ऐसे में हमें वास्तविकता का सामना करना होगा और गहराई से पड़ताल करनी होगी. इन सवालों के कुछ असहज करने वाले सबक जरूर होंगे, लेकिन अगर हम वास्तविकता का सामना नहीं करते, अगर हम तथ्यों को सही ढंग से नहीं देखते, तो हम सही सबक नहीं लेंगे.'

दरअसल 4 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के चुनावी नतीजों में पार्टी के खराब प्रदर्शन पर विचार-विमर्श और आत्मनिरीक्षण करने के पार्टी की सर्वोच्च कमेटी सीवीसी की बैठक बुलाई गई थी.

LIVE TV

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.