अब बनेगा नया संसद भवन, सांसदों को मिलेंगी ये सभी आधुनिक सुविधाएं

लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) ने कहा है कि नया संसद भवन दुनिया के सबसे आधुनिक भवनों में से एक होगा और सांसदों को कई तरह की सुविधाएं मिलेंगी.

अब बनेगा नया संसद भवन, सांसदों को मिलेंगी ये सभी आधुनिक सुविधाएं
लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को समीक्षा बैठक की.

नई दिल्ली: संसद के नए भवन (New Parliament Building) का निर्माण कार्य इस साल दिसंबर में शुरू हो रहा है और पार्लियामेंट (Parliament) की नई बिल्डिंग अक्टूबर 2022 तक बनकर तैयार हो जाएगी. लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) द्वारा शुक्रवार को समीक्षा बैठक के बाद लोक सभा सचिवालय ने इस बात की जानकारी दी.

सांसदों को मिलेंगी कई सुविधाएं
नए संसद भवन के निर्माण कार्य की जानकारी लेते हुए लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) ने कहा है कि नया संसद भवन दुनिया के सबसे आधुनिक भवन में से एक होगा, जिसमें सांसदों के पेपर लेस ऑफिस के साथ ही लाउंज, लाइब्रेरी और समितियों के बैठक कक्ष के साथ ही तमाम तरह की सुविधाएं होगी. संसद भवन में तमाम डिजिटल सुविधाएं होंगी. लोक सभा अध्यक्ष ने शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी (Hardeep Singh Puri) के साथ ही तमाम अधिकारियों के साथ नए संसद भवन की सारी व्यवस्थाओं की जानकारी ली.

निगरानी के लिए बनाई जा रही है समिति
नए संसद भवन (New Parliament Building) के निर्माण के कामकाज पर नजर रखने के लिए निगरानी समिति बनाई जा रही है, जिसमें लोक सभा सचिवालय और शहरी विकास मंत्रालय के अधिकारियों के साथ ही लोक निर्माण विभाग, एनडीएमसी और परियोजना के आर्किटेक्ट शामिल होंगे.

अधिकारियों ने तैयार कर लिया है पूरा खाका
शहरी विकास मंत्रालय के अधिकारियों ने समीक्षा बैठक के दौरान लोक सभा स्पीकर को बताया कि नए संसद भवन के निर्माण के दौरान और विशेषकर संसद सत्र के दौरान वीवीआईपी और स्टाफ के आने की व्यवस्था किस तरह से रहेगी, उसका पूरा खाका तैयार कर लिया गया है. मौजूदा भवन में भी समारोह के लिए अधिक उपयोगी स्थान की व्यवस्था के लिए इसे भी सारी आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जाएगा, ताकि इसका भी उपयोग हो सके.

ये भी पढ़ें- TATA को मिला नए संसद भवन निर्माण का कॉन्ट्रेक्ट, जानें कितनी लागत में बनेगी नई बिल्डिंग

सांसदों के बैठने के लिए होगी पर्याप्त व्यवस्था
वर्तमान संसद भवन में लोक सभा और राज्य सभा (Lok Sabha and Rajya Sabha) दोनों में ही स्पेस की कमी के चलते सांसदों के बैठने की व्यवस्था ज्यादा आरामदायक नहीं है. कई बार सदन में सीट के बीच में बैठे सांसदों या मंत्रियों को बाहर निकलने के लिए मशक्कत करनी पड़ती है. इसके लिए अगल-बगल के सांसदों को पहले उठना पड़ता है, लेकिन नए संसद भवन में न सिर्फ पर्याप्त जगह होगी, बल्कि बैठक व्यवस्था भी सांसदों के लिहाज से ज्यादा बेहतर होगी.

VIDEO

सांसदों की सीट को बनाया जाएगा आरामदेह
लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) ने बताया कि नए भवन के कक्षों में प्रत्येक सांसद की सीट को और अधिक आरामदेह बनाया जाएगा और इसके साथ ही डिजिटल सुविधाओं की व्यवस्था भी की जाएगी. इस बैठक में ओम बिरला को नए भवन के निर्माण के लिए प्रस्तावित क्षेत्र से मौजूदा सुविधाओं और अन्य संरचनाओं को स्थानांतरित किए जाने के संबंध में की गई प्रगति की जानकारी दी गई. इस क्षेत्र के आसपास घेरा बनाने और निर्माण प्रक्रिया के दौरान वायु और ध्वनि प्रदूषण के नियंत्रण के लिए किए जाने वाले विभिन्न उपायों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई. 

नए भवन में बनेगा भव्य संविधान कक्ष
परियोजना के विभिन्न पहलुओं और कार्य की प्रगति की समीक्षा करते हुए ओम बिरला ने इस बात पर जोर दिया कि संबंधित विभिन्न एजेंसियां नियमित आपस में तालमेल रखते हुए विभिन्न मुद्दों का समाधान करें. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि निर्माण कार्य को समय से पूरा करने और गुणवत्ता सुनिश्चित करने में कोई समझौता नहीं होना चाहिए. लोक सभा और राज्य सभा कक्षों के अलावा नए भवन में एक भव्य संविधान कक्ष होगा, जिसमें भारत की लोकतांत्रिक विरासत दर्शाने के लिए अन्य वस्तुओं के साथ-साथ संविधान की मूल प्रति, डिजिटल डिस्पले आदि होंगे.

आगंतुकों को हॉल में जाने की होगी सुविधा
बैठक के दौरान यह जानकारी दी गई कि आगंतुकों को इस हॉल में जाने की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी, ताकि वे संसदीय लोकतंत्र के रूप में भारत की यात्रा के बारे में जान सकें. नए भवन में संसद सदस्यों के लिए एक लाउंज, लाइब्रेरी, छह समिति कक्ष और डाइनिंग (भोजन) कक्ष भी होंगे.