महाराष्ट्र के बाद अब इस राज्य में मिले ओमिक्रॉन के 9 मरीज, देश में कुल 21 मामले
X

महाराष्ट्र के बाद अब इस राज्य में मिले ओमिक्रॉन के 9 मरीज, देश में कुल 21 मामले

जयपुर में जीनोम सीक्वेंसिंग से 9 व्यक्तियों में ओमीक्रोन वायरस (Omicron) मिलने की पुष्टि हुई है. विभाग ने कांटेक्ट ट्रेसिंग कर संपर्क में आए व्यक्तियों को आइसोलेट कर दिया है. 

महाराष्ट्र के बाद अब इस राज्य में मिले ओमिक्रॉन के 9 मरीज, देश में कुल 21 मामले

जयपुर: ओमिक्रॉन के मामले बढ़ते जा रहे हैं. महाराष्ट्र के बाद अब जयपुर में 9 लोगों में दक्षिण अफ्रीका के ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हुई है. इनमें से 4 लोग दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे व अन्य 5 इनके संपर्क में ते. सभी 9 सैंपल में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है. फिलहाल सभी का इलाज चल रहा है, सभी की हालत सामान्य बताई जा रही है. 

महाराष्ट्र में भी मिल चुके हैं मामले

इससे पहले महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के 7 और मामले सामने आए हैं. जिसमें पिंपरी में 6 और पुणे में 1 और मामला दर्ज किया गया है. इसके साथ महाराष्ट्र में अब तक कुल 8 मामले हैं. गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर का सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र में ही देखने को मिला था. एक साथ 7 मामले सामने आने से पूरे देश में हड़कंप मच गया और जयपुर में भी नए केसेज आने से टेंशन और बढ़ गई है. 

जीनोम सीक्वेंसिंग में हुई पहचान

राजस्थान में दक्षिण अफ्रीका से आए परिवार की जीनोम सीक्वेंसिंग की रिपोर्ट में 9 व्यक्ति कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) से संक्रमित पाए गए हैं. चिकित्सा सचिव वैभव गालरिया ने बताया कि विभाग ने दक्षिण अफ्रीका से आए परिवार को पूर्व में ही आरयूएचएस में भर्ती करवा दिया था. उनके संपर्क में आए 5 अन्य लोग भी संक्रमित पाए गए हैं, इन्हें भी आरयूएचएस में एडमिट किया जा रहा है.

34 लोग आए संपर्क में

चिकित्सा सचिव ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका से आए परिवार सहित उनके सम्पर्क में आए 34 लोगों के सैंपल लिए गए थे, जिनमें से 9 लोग कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि बाकी 25 लोग नेगेटिव हैं. उन्होंने बताया कि परिवार के संपर्क में सीकर जिले के अजीतगढ़ का एक परिवार भी आया था. विभाग ने सीकर में उन सभी 8 लोगों की भी ट्रेसिंग की, वे सभी कोरोना नेगेटिव पाए गए हैं.

यह भी पढ़ें; अखिलेश के लिए ममता का 'मिशन यूपी', PM के संसदीय क्षेत्र से करेंगी शुरुआत

कांटेक्ट ट्रेसिंग जारी

वैभव गालरिया ने बताया कि सम्पर्क में आए सभी लोगों की व्यापक स्तर पर कांटेक्ट ट्रेसिंग कर सैंपल लिए जा रहे हैं. गालरिया ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका से आए परिवार के जयपुर में आने के बाद से ही विभाग पूरी तरह सक्रिय था व लगातार इनकी मॉनिटरिंग की जा रही थी. उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा सघन काट्रेक्ट ट्रेसिंग की जा रही है. संपर्क में आए सभी लोगों की पहचान कर इलाज शुरू कर दिया जाएगा.

LIVE TV
 

Trending news