महाशिवरात्रि 2018: आतंकवादी हमले की आशंका के बाद गूंजा महाकाल का नाम

महाशिवरात्रि यानी देवाधिदेव भगवान शिव का विशेष दिन अवसर पर पूरा उत्तर भारत भी शिवमय हो गया. देशभर में मनाएं जाने वाले शिवरात्री के त्यौहार पर अब पंजाब और हरियाणा के मंदिरों में हजारों श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ा पर इसके साथ ही सूत्रों की जानकारी के अनुसार आतंकवादियों की आशंका जताई जा रही थी. 

महाशिवरात्रि 2018: आतंकवादी हमले की आशंका के बाद गूंजा महाकाल का नाम
महाशिवरात्रि का त्योहार (फाइल फोटो)

महाशिवरात्रि यानी देवाधिदेव भगवान शिव का विशेष दिन अवसर पर पूरा उत्तर भारत भी शिवमय हो गया. देशभर में मनाएं जाने वाले शिवरात्रि के त्यौहार पर अब पंजाब और हरियाणा के मंदिरों में हजारों श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ा पर इसके साथ ही सूत्रों की जानकारी के अनुसार आतंकवादियों की आशंका जताई जा रही थी. जिस कारणवश सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी.शिवरात्रि के दिन सच्चे मन से भोलेनाथ को फूल, भांग और प्रसाद चढ़ाने से वह खुश होते हैं और मनोकामना पूरी करते हैं. इस बार महाशिवरात्रि के अवसर पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बावजूद पंजाब, हरियाणा में हजारों लोगों ने विभिन्न शिवालयों में जाकर पूजा-अर्चना की, मंदिरों को विशेष रूप से सजाया गया. लोगों ने उत्साह और उमंग के साथ शिवरात्रि का त्यौहार मनाया. सभी शिवालयों में सुबह से ही लोगों का तांता लग गया, साथ ही शिव बारात निकली गई. तमाम शिवालयों में धार्मिक अनुष्ठान के साथ गीत-भजन और नाच-गाने का दौर जारी है.

यह भी पढ़ें - अमिताभ बच्चन से लेकर अमृता राव तक कई बॉलीवुड सितारों ने दी महाशिवरात्रि की बधाई

चंडीगढ़ और पंचकूला में जवानों को तैनात किया गया
चंडीगढ़ और आसपास के क्षेत्रों के सभी लोग मन्दिरों में, विशेष रूप से शिव के मंदिरों में पूजा करने के लिए गए, वहीं चंडीगढ़ से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर हरियाणा से सटे पंचकूला जिले के साकेत्री में शिव मन्दिर में हजारों श्रद्धालुओं ने भगवान शिव के दर्शन किए पर वही खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक आतंकवादी हमले की आशंका जताने के बाद मंदिर के आसपास पहली बार अर्धसैनिक बल के जवानों को तैनात किया गया.

पंचकूला के सेक्टर नौ में स्थित एक मंदिर के पुजारी ने कहा, "मंदिर मैं सैकड़ों श्रद्धालु आ रहे हैं, जो इस अवसर पर पूजा-प्रार्थना कर रहे हैं." पंजाब के अमृतसर, लुधियाना, पटियाला, जालंधर व अन्य जगहों पर और हरियाणा के अंबाला, हिसार, पानीपत, करनाल और कुरुक्षेत्र के मंदिरों में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं लोगों की भीड़ उमड़ी.