close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह बोले, अगर बंटवारा न होता, तो न अनुच्छेद 370 होता; न ही उसे हटाने का विषय

नई दिल्ली में आयोजित विश्व हिंदी परिषद् के एक कार्यक्रम में जितेंद्र सिंह ने यह बयान दिया.

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह बोले, अगर बंटवारा न होता, तो न अनुच्छेद 370 होता; न ही उसे हटाने का विषय
केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि अगर बंटवारा नहीं होता तो जम्मू-कश्मीर का कोई मुद्दा नहीं होता. (फोटो साभार: ANI)

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह (Jitendra Singh) ने शुक्रवार को देश के बंटवारे को "आधुनिक भारत में सबसे बड़ी गलती" करार दिया और कहा कि अगर विभाजन नहीं होता तो आज जम्मू-कश्मीर पर कोई चर्चा नहीं होती.

नई दिल्ली में आयोजित विश्व हिंदी परिषद् के एक कार्यक्रम में बोलते हुए सिंह ने कहा, "आधुनिक भारत में सबसे बड़ी गलती विभाजन थी. गांधी जी ने कहा था कि अगर बंटवारा होगा तो वह मेरी लाश पर होगा. वे पहले स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर निराश थे और बंगाल के लिए रवाना हो गए थे."

पीएमओ राज्यमंत्री ने कहा, "क्या हम समझ गए थे कि विभाजन केवल कुछ लोगों की महत्वाकांक्षाओं के कारण हुआ है... एक बड़े वर्ग ने विभाजन का विरोध किया. यदि वह विभाजन नहीं हुआ होता तो आज के जम्मू और कश्मीर पर होने वाली चर्चाएं नहीं होतीं. उन्होंने कहा, "न तो धारा 370 होती और न ही इसके निरस्त होने का मुद्दा. आप देख सकते हैं कि इतिहास में एक दुर्घटना के साथ हम कितने आगे या पीछे चले गए."

केंद्र सरकार में उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास का जिम्मा संभाल रहे मंत्री ने आगे कहा कि दो-राष्ट्र सिद्धांत, जिसके आधार पर विभाजन किया गया था, वह उस दिन निरर्थक साबित हो गया जिस दिन बांग्लादेश का गठन हुआ था. इस कार्यक्रम में आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार भी मौजूद थे.