Breaking News
  • FATF की बैठक में पाकिस्‍तान को फिर झटका, ग्रे-लिस्‍ट से बाहर निकलने के मंसूबों पर फिरा पानी
  • कार्ति चिदंबरम को ब्रिटेन और फ्रांस जाने की कोर्ट से मिली इजाजत
  • अफगानिस्‍तान: राष्‍ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में पहले राउंड में अशरफ गनी ने जीत हासिल की

PM मोदी का कांग्रेस पर निशाना, 'मप्र में ढाई सीएम हैं, प्रशासन को नहीं पता किसका आदेश मानें'

पीएम मोदी ने कर्जमाफी के मुद्दे पर मध्‍य प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर साधा निशाना. उन्‍होंने कहा, हमारा देश गलती माफ करता है, लेकिन झूठ और विश्वासघात को माफ नहीं करता. सेम पित्रोदा के मामले पर भी पीएम मोदी ने चुटकी लेते हुये कांग्रेस को घेरा.

PM मोदी का कांग्रेस पर निशाना, 'मप्र में ढाई सीएम हैं, प्रशासन को नहीं पता किसका आदेश मानें'

खंडवा: लोकसभा चुनाव 2019 का चुनाव प्रचार अंतिम चरणों में चल रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सातवें चरण के प्रचार के लिए मध्‍य प्रदेश के खंडवा पहुंचे. यहां उन्‍होंने राज्‍य की कांग्रेस सरकार पर गिन गिन कर हमले बोले. पीएम मोदी ने कर्जमाफी के मुद्दे पर मध्‍य प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर साधा निशाना. उन्‍होंने कहा, हमारा देश गलती माफ करता है, लेकिन झूठ और विश्वासघात को माफ नहीं करता. सेम पित्रोदा के मामले पर भी पीएम मोदी ने चुटकी लेते हुये कांग्रेस को घेरा. उन्‍होंने कहा, 1984 में सिखों के साथ अत्याचार हुआ और ये कहते हैं हुआ तो हुआ.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पर भी निशाना साधा. उन्‍होंने कहा, 84 के दंगों मे जो जनता की नजरों मे गुनहगार हैं, उसे आपके ऊपर थोप दिया गया. मुख्यमंत्री बना दिया. गैस त्रासदी को लेकर भी प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को घेरा. उन्‍होंने कहा, ये तो यही कह देंगे हुआ तो हुआ. पाकिस्तान के पाले पोसे आतंकी जब हमला करते थे, तो ये निर्दोषों को जेलों मे डालते थे. ये लोग कितने भी हवन और कितने ही जनेऊ दिखा दें, पुलिस को भगवा ड्रेस मे दिखा दें. इनको जरा भी मौका मिला तो ये भारत की सुरक्षा को खतरे मे डाल देंगे.

प्रधानमंत्री ने कहा, यहां एक ही पार्टी के ढाई सीएम हैं. प्रशासन को पता ही नही चलता कि किसका आदेश मानना है. उद्योगों के नाम पर ट्रांसफर उद्योग चल रहा है. कांग्रेसियों के घर से पैसे से भरे बोरे मिले हैं. झूठ और भ्रष्टाचार के इस खेल को कांग्रेस ने शिष्टाचार बना रखा है. छग मे कांग्रेस ने चने और नमक की योजना को बंद कर दिया. इन्‍होंने आयुष्मान योजना(5 लाख मिलने वाली योजना) को बंद किया.