close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बालाकोट पर बोले PM मोदी, 'आतंकवाद जहां से कंट्रोल होता है खेल वहीं खेला जाना चाहिये'

26 फरवरी को पाकिस्तान के अंदर घुस कर बालाकोट के पास जैश ए मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर भारतीय वायु सेना के बम गिराने के बाद दोनों देशों में तनाव बढ़ गया था.

बालाकोट पर बोले PM मोदी, 'आतंकवाद जहां से कंट्रोल होता है खेल वहीं खेला जाना चाहिये'
पीएम ने कहा कि जो लोग बालाकोट हवाई हमले पर मोदी को गाली दे रहे हैं वे अपने बयानों से पाकिस्तान की मदद कर रहे हैं.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि बालाकोट में हवाई हमला करने का फैसला उन्होंने इसलिए किया कि आतंकवाद जहां से कंट्रोल होता है, ‘खेल’ वहीं खेला जाना चाहिये और मैदान उन्हीं (आतंकवादियों) का हो. पीएम मोदी ने ‘‘मैं भी चौकीदार’’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान बड़ी मुसीबत में है क्योंकि यदि वह (पाकिस्तान) कहता है कि बालाकोट में कुछ हुआ था तो उसे स्वीकार करना पड़ेगा कि वहां आतंकवादियों का शिविर चलता था.

बालाकोट पर सवाल उठाने वाले कर रहे पाकिस्तान की मदद
उन्होंने कहा, ‘‘वे लोग कह रहे हैं कि कोई आतंकवादी शिविर नहीं था. अब उन्हें इसे छिपाना पड़ रहा है. वे अब किसी को वहां नहीं जाने दे रहे हैं. हमे बताया गया है कि पाकिस्तान बालाकोट इलाके का पुनर्निर्माण कर रहा है ताकि वह यह दिखाया जा सके कि वहां एक स्कूल चल रहा है और लोगों को वहां ले जाया जा सके तथा दिखाया जा सके कि वहां कोई आतंकी शिविर नहीं है.’’ उन्होंने कहा कि जो लोग बालाकोट हवाई हमले पर मोदी को गाली दे रहे हैं वे अपने बयानों से पाकिस्तान की मदद कर रहे हैं. 

500 जगहों पर दिखाया गया कार्यक्रम
यह कार्यक्रम देशभर में 500 स्थानों पर प्रसारित किया गया जहां भाजपा कार्यकर्ता, चौकीदार, व्यापारी, किसान सहित अन्य ने मोदी का संबोधन सुना और वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उनसे बातचीत की. गौरतलब है कि 26 फरवरी को पाकिस्तान के अंदर घुस कर बालाकोट के पास जैश ए मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर भारतीय वायु सेना के बम गिराने के बाद दोनों देशों में तनाव बढ़ गया था. पाकिस्तान ने जवाबी कार्रवाई करते हुए अगले दिन भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की नाकाम कोशिश की थी.

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के एक काफिले पर हुए आतंकी हमले में 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत ने जैश के शिविर पर हमला किया था.