PM मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए वाराणसी के लोगों से की बात, जानें क्या कहा

पीएम मोदी ने कहा कि आप सभी मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ के दूत बनकर हर जरूरतमंद तक पहुंचे.

PM मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए वाराणसी के लोगों से की बात, जानें क्या कहा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.
Play

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संवाद करते हुए कहा कि एक तरह से आप सभी मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ के दूत बनकर हर जरूरतमंद तक पहुंचे. प्रधानमंत्री मोदी लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान लोगों की मदद करने वाले संगठनों को नमन करते हुए ये बात कही.

पीएम मोदी ने कहा कि हमारी काशी में बाबा विश्वनाथ और मां अन्नपूर्णा दोनों विराजते हैं. हम सभी के लिए ये बहुत सौभाग्य की बात है कि इस बार गरीबों की सेवा का माध्यम भगवान ने हमें बनाया. तमाम संगठनों द्वारा लॉकडाउन में गरीबों की मदद करने पर उन्होंने कहा कि एक तरह से आप सभी मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ के दूत बनकर हर जरूरतमंद तक पहुंचे.

उन्होंने आगे कहा कि सेवा करने वाला सेवा का फल नहीं मांगता है दिन-रात निःस्वार्थ भाव से सेवा करता है. दूसरों की निःस्वार्थ सेवा के हमारे यही संस्कार हैं जो इस मुश्किल समय में देशवासियों के काम आ रहे हैं.

उत्तर प्रदेश ने ना सिर्फ संक्रमण की गति को काबू में किया हुआ है बल्कि जिन्हें कोरोना हुआ है वो भी तेजी से ठीक हो रहे हैं. इसकी बहुत बड़ी वजह आप सभी लोग हैं. आप जैसे सामाजिक, धार्मिक और परोपकारी संगठनों के सेवाभाव, संकल्प और संस्कार हैं, जिनसे इस कठिन समय में बहुत मदद मिली है.

ये भी पढ़ें- जिसने महाकाल मंदिर में विकास दुबे को पहचाना, जानें पूरी कहानी उसी गार्ड की जुबानी

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम सभी के प्रयासों से हमारी काशी भारत के एक बड़े एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित होगी. काशी को हम आत्मनिर्भर भारत अभियान की प्रेरक स्थली के रूप में भी स्थापित करेंगे.

बता दें कि जिला प्रशासन के अनुसार काशी के लोगों ने लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों को समय से भोजन उपलब्ध करवाने में जिला प्रशासन को भरपूर सहयोग प्रदान किया. अलग-अलग क्षेत्र की 100 से अधिक संस्थाओं ने अपने स्तर से तथा वाराणसी जिला प्रशासन के फूड सेल के माध्यम से लॉकडाउन की अवधि में लगभग 20 लाख फूड पैकेट्स तथा दो लाख राशन किट्स का वितरण किया.