पुलवामा हमलाः शहादत का बदला लेने के लिए सुरक्षाबलों को दी गई आजादीः PM मोदी, 10 खास बातें

पुलवामा हमले पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत, पाकिस्तान के मंसूबों को कभी भी कामयाब होने नहीं देगा.

पुलवामा हमलाः शहादत का बदला लेने के लिए सुरक्षाबलों को दी गई आजादीः PM मोदी, 10 खास बातें
पीएम मोदी ने कहा, हमले से पूरे देश में आक्रोश है, इस समय लोगों का खून खौल रहा है.

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच एक बार फिर से तनाव की स्थिति पैदा हो गई है. पुलवामा के अवंतिपोरा में आत्मघाती आतंकवादी हमले ने सिर्फ भारत को नहीं बल्कि पूरी दुनिया को झंकझोंर कर रख दिया है. इस हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक हुई. इस बैठक के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि भारत, पाकिस्तान के मंसूबों को कभी भी कामयाब होने नहीं देगा.

पीएम मोदी के संबोधन की खास बातें...

पुलवामा में वीर शहीद हुए जवानों की शहादत का बदला लेने के लिए सुरक्षाबलों को पूरी आजादी दे दी गई है.
 
हमले से पूरे देश में आक्रोश है, इस समय लोगों का खून खौल रहा है. लेकिन देश की जनता को सेना के शौर्य पर पूरा भरोसा है.

गुनहगारों को उनके किए की सजा अवश्य मिलेगी. भारत आतंक के खिलाफ अपनी लड़ाई को और भी तेज करेगा. 

मैं आतंकी संगठनों को और उनके सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वो बहुत बड़ी गलती कर गए हैं.

पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ चुका हमारा पड़ोसी देश अगर ये समझता है कि जैसे घृणा वाले काम वह कर रहा है और जिस तरह की साजिशें रच रहा है, उससे वह हमारे देश में अस्थिरता पैदा करने में सफल हो जाएगा, तो वो बहुत बड़ी भूल कर रहा है.

ऐसे हमलों का भारत डटकर मुकाबला करेगा. सारी दुनिया आज हमारे साथ खड़ी है, किसी भी हालत में हम रुकने वाले नहीं हैं.

मैं पुलवामा के आतंकी हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. उन्होंने देश की सेवा करते हुए अपने प्राण न्योछावर किए हैं. दुःख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं, उनके परिवारों के साथ हैं.

जो हमारी आलोचना कर रहे हैं, उनकी भावनाओं को भी मैं समझ रहा हूं. उनका पूरा अधिकार है. मेरा सभी साथियों से अनुरोध है कि, ये बहुत ही संवेदनशील और भावुक समय है, इसलिए राजनीतिक छींटाकशी से दूर रहें. यह समय एक साथ मिलकर लड़ने का है.