कोटा के जेके लोन अस्पताल में 10 बच्चों की मौत मामले पर गंभीर सीएम गहलोत

कोटा के जेके लोन अस्पताल में 2 दिनों में 10 मासूमों की मौत के मामले को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गंभीरता से लेते हुए जांच के निर्देश दिए हैं. 

कोटा के जेके लोन अस्पताल में 10 बच्चों की मौत मामले पर गंभीर सीएम गहलोत
2 दिनों में 10 मासूमों की मौत

मुकेश सोनी, कोटा: जिले के जेके लोन अस्पताल में 2 दिनों में 10 मासूमों की मौत के मामले को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गंभीरता से लेते हुए जांच के निर्देश दिए हैं. सेकेट्री हेल्थ एजुकेशन वैभव गालरिया के नेतृत्व में गठित टीम जे के लोन अस्पताल पहुंची है जो मामले की जांच कर रही है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोटा जेके लोन अस्पताल में 48 घंटों में 10 मासूमों की मौत के मामले को गंभीरता से लिया है. सरकार ने मामले की जांच के लिए हेल्थ सेकेट्री एजुकेशन वैभव गालरिया के नेतृत्व में तीन सदस्यी टीम गठित की है.

सरकार की तरफ से गठित की गई टीम जे के लोन अस्पताल पहुंची और इसके बाद टीम ने कोटा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना, फेकल्टी मेम्बर, शिशु रोग विभाग के एचओडी से मामले को लेकर चर्चा की.  

मामले को लेकर करीब 2 घंटे तक वैभव गालरिया ने सभी से विस्तार से चर्चा की और रिकॉर्ड्स को खंगाला गया. इसके बाद गालरिया ने, जांच टीम के साथ जेके लोन अस्पताल का दौरा किया. उन्होंने NICU, PICU का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया. इस दौरान जिला कलेक्टर भी उनके साथ माैजुद रहे. जांच कमेटी को मामले की रिपोर्ट देने के लिए 48 घंटे का समय दिया गया है. गलारिया के मुताबिक निरीक्षण के दौरान जो खामियां सामने आई है उन पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी.   

आपको बता दें कि कोटा के जेकेलोन अस्पताल में 2 दिन में 10 मासूमों की मौत हुई थी, जिन बच्चों की मौत हुई है वो सभी पीआईसीयू और एनआईसीयू में भर्ती थे. मरने वाले बच्चों की उम्र एक दिन से एक साल तक के बीच थी. अस्पताल रिकॉर्ड के मुताबिक 23 दिसम्बर को 6 बच्चों की मौत हुई. जबकि 24 दिसम्बर को 4 मासूमों ने दम तोड़ दिया. वहीं इस मामले को लेकर लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने भी ट्वीट कर दुख जताया है. आपको बता दें कि इस मामले में सरकार ने जेके लोन अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एच एल मीना को हटाने के भी आदेश जारी कर दिए हैं. अब डॉ. सुरेश दुलारा को नए अधीक्षक की जिम्मेदारी सौंपी गई है.