Ajmer में बेनकाब हुआ नशा मुक्ति केंद्र, यहां जाने से डरते हैं लोग
topStories1rajasthan1001286

Ajmer में बेनकाब हुआ नशा मुक्ति केंद्र, यहां जाने से डरते हैं लोग

अजमेर के ब्यावर (Beawar) में एक ऐसे नशा मुक्ति केंद्र (Nasha Mukti Kendra) का चेहरा बेनकाब हो रहा है तो नशा मुक्ति के स्थान पर अमानवीय यातनाओं का केंद्र बना हुआ है.

Ajmer में बेनकाब हुआ नशा मुक्ति केंद्र, यहां जाने से डरते हैं लोग

Ajmer: अजमेर के ब्यावर (Beawar) में एक ऐसे नशा मुक्ति केंद्र (Nasha Mukti Kendra) का चेहरा बेनकाब हो रहा है तो नशा मुक्ति के स्थान पर अमानवीय यातनाओं का केंद्र बना हुआ है. इस केंद्र के पीड़ितों के आरोपों पर यकीन किया जाए तो जिस तरह की यंत्रणा यहां दी जाती है, उसे देख कर आपकी रूह कांप जाएगी. पीड़ितों में नशा मुक्ति केंद्र संचालको का इतना खौफ है कि वे पुलिस के पास जाने तक में कतरा रहे हैं.

ब्यावर के प्रताप नगर स्थित नया भविष्य सेवा संस्थान अब चर्चाओं में है. चर्चा इस बात की है कि आखिर यह केंद्र किसकी शह पर अमानवीय यातनाओं का केंद्र बना हुआ है. दरअसल इस केंद्र से बाहर आए कुछ युवकों ने जब केंद्र की सच्चाई को बयान करना शुरू किया तो सुनने वालों के दिल दहल गए. गहलोत कोलोनी ब्यावर निवासी दीलिप कुमार परवानी आज तक सहमे हुए हैं. उनके शारीर पर उन्हें दी गयी यातनाओं की गवाही आज तक उकरी हुई है. पूरे शरीर का शायद ही कोई भाग ऐसा हो, जहां उन्हें दिए गये जख्मों के निशान नहीं हो.

यह भी पढ़ें-Nagaur में बेटी ने अपने ही घर में डाला डाका, मां-बाप को लूटने के बाद पहुंची जेल

उनका कहना है कि शारीर के जख्म तो हर कोई देख सकता है लेकिन जो जख्म उनके दिल पर लगे है, उन्हें दिखा पाना मुमकिन नहीं है. दीलिप की मानें तो नशा मुक्ति के नाम पर पहने जब इस केंद्र में भर्ती किया गया तो पहले ही दिन से संचालक युधिष्ठर शर्मा और निर्मल शर्मा का खौफनाक चेहरा सामने आ गया. पहले ही दिन से उनके साथ बेरहमी के साथ मारपीट की जाने लगी. यहां उन्हें रस्सियों से बांध कर पूरी रात पिटा जाता था. इस दौरान उन्हें ना तो खाना दिया जाता था और ना ही पानी. हालत खराब होने के बाद उन्हें बेहोशी की हालत में पटक दिया जाता था. 

वहीं अब इस मामले में दूसरा पीड़ित सामने आया है, इसका आरोप है कि इस नशा मुक्ति केंद्र पर पहले तो आने वाले हर मरीज को नशे की दवाई दी जाती है ताकि वो नशे में गाफिल हो जाए. इसके बाद में फिर उसके साथ हर छोटी बड़ी बात पर मारपीट आम बात है. 

यह भी पढ़ें-Rajasthan Weather Report: मानसून की विदाई की शुरुआत, फिर से बढ़ने लगा तापमान

इस पूरे मामले में जिस तरह के आरोप पीड़ितों द्वारा लगाये जा रहे हैं, वो दिल को दहलाने वाले हैं. बेरहमी के साथ मारपीट का शिकार हुए पीड़ितो की चमड़ी पर नील पड़ने और काली पड़ी चमड़ी के सूख जाने से जिस तरह के जख्मों के निशां उभरे है, वो डरावनी कहानी की सच्चाई बयान कर रही है. इस पूरे मामले में अजमेर में कांग्रेस के पूर्व पार्षद सुनील मोतियानी के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल अजमेर एसपी से भी मिला है और आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई है. 

Report- Manveer Singh Chundawat

Trending news