अलवर: जानिए क्यों, दाह संस्कार से तुरंत पहले पुलिस ले गई महिला का शव

अलवर के बानसूर में एक विवाहिता की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है.   

अलवर: जानिए क्यों, दाह संस्कार से तुरंत पहले पुलिस ले गई महिला का शव
शव को बानसूर मोर्चरी में रखवाया गया.

अलवर: जिले के बानसूर में एक विवाहिता की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है. मामला बानसूर के गांव चतरपुरा का है, जहां एक महिला की संदिग्धावस्था में मौत के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे. परिवार वालों की ओर से विवाहिता के शव को अंतिम संस्कार ले जाने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई थी और उसे ले जाने वाले ही थे तभी बानसूर पुलिस को जरिए कंट्रोल रूम से सूचना मिली कि एक महिला की मौत के बाद उसका दाह संस्कार किया जा रहा है.

सूचना मिलते ही बानसूर पुलिस गांव चतरपुरा पहुंची और शव को अर्थी से हटाकर अपने कब्जे में लेकर बानसूर मोर्चरी पहुंची. शव को बानसूर मोर्चरी में रखवाया गया, जहां शव का मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम करवाया गया. पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद की महिला की मौत की वजह पता चल पाएगी. 

बानसूर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह देवड़ा ने बताया कि भिवाड़ी पुलिस अधीक्षक कंट्रोल रूम से सूचना मिली कि बानसूर के गांव चतरपुरा में भावना पत्नी बबलू सिंह शेखावत की मृत्यु हुई है. उसका ससुराल पक्ष उसका दाह संस्कार करने के लिए ले जा रहे हैं. सूचना पर बानसूर पुलिस मौके पर पहुंची और महिला के शव को कब्जे में लेकर बानसूर मोर्चरी रखवाया गया अभी दोनों पक्ष की ओर से पुलिस में मामला दर्ज नहीं कराया गया है.

दाह संस्कार से पहले पुलिस द्वारा महिला का शव ले जाने के बाद पूरे गांव में इसी मामले की चर्चा हो रही है.