अलवर: CAG के ऑडिटर को रिश्वत लेते सीबीआई ने किया रंगे हाथों गिरफ्तार

अलवर जिले में एसीबी की ओर से दो दिन में दूसरी कार्रवाई की गई है.

अलवर: CAG के ऑडिटर को रिश्वत लेते सीबीआई ने किया रंगे हाथों गिरफ्तार
सीबीआई की 3 टीम आरोपियों के घरों पर पर कार्रवाई कर रही है.

प्रमोद कुमार, अलवर: अलवर जिले में एसीबी की ओर से दो दिन में दूसरी कार्रवाई की गई है. जयपुर सीबीआई की एसीबी विंग के की ओर से अलवर जिले के भारतीय खाद्य निगम कॉरपोरेशन कार्यालय में शनिवार को कार्रवाई करते हुए दिल्ली से ऑडिट करने आए सीएजी ऑडिट की टीम के दो अकाउंटेंट को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. 

सीबीआई एसीबी विंग के निरीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि अलवर भारतीय खाद्य निगम के मैनेजर रामजी लाल मीणा ने शुक्रवार को शिकायत दी थी. सीएजी के ऑडिट के पैरा नहीं लिखने की एवज में असिस्टेंट अकाउंट ऑफिसर रमेश प्रसाद चौरसिया व सीनियर अकाउंटेंट मैनपाल यादव नई दिल्ली द्वारा एक लाख रुपये की रिश्वत मांगी जा रही है. इस पर रविवार को टीम ने कार्रवाई करते हुए दोनों को गिरफ्तार कर लिया है. 

 

फिलहाल टीम का सर्च ऑपरेशन जारी है. इस दौरान सीबीआई की 3 टीम दोनों आरोपियों के घरों पर पर कार्रवाई कर रही है. जिसमें रमेश प्रसाद चौरसिया निवासी वेस्ट चंपारण बिहार और मेनपाल यादव निवासी रेवाड़ी के आवासों पर दो टीमें जांच में जुटी हुई है, वहीं रमेश प्रसाद चौरसिया हाल निवासी लखनऊ के आवास पर भी छापेमारी की जा रही है.

उन्होंने यह भी जानकारी दी कि बिहार में रमेश प्रसाद चौरसिया की पत्नी सुशिला के आवास शिव नगर, चंपारण बिहार में कार्यवाही,मैनपाल यादव की पत्नी अनिता यादव, पुत्र प्रवेश यादव, बावल में सर्विस कंपनी में कार्यरत से भी पूछताछ की जा रही है.

ऑडिट टीम ने मांगी थी 1 लाख की रिश्वत

मैनेजर अकाउंट रामजी लाल मीणा ने बताया कि उन्होंने पैसे देने के लिए मना किया तो ऑडिट टीम ने कहा कि 1 लाख रुपए देने पड़ेंगे, इसपर उन्होंने सीबीआइ से शिकायत की, इसपर टीम ने पहुंचकर दबिश दी. ऑडिट ने वहां कार्रवाई करते हुए रंगे हाथों पकड़ा. रामजीलाल मीणा ने आरोप लगाया कि ऑडिट टीम ने बताया कि काम सही होने के बावजूद वे पैसे लेंगे. इसपर उन्होंने सीबीआइ से शिकायत की और रिश्वत लेने के आरोपी रंगे हाथों पकड़े गए.