close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: सदन में मंत्री शांति धारीवाल ने वाल्मिकी समाज पर दिया विवादित बयान, आज होगी जांच

प्रदेश सरकार के मंत्री शांति धारीवाल ने बुधवार को विधानसभा की कार्यवाही की दौरान एक पुस्तक का जिक्र करते हुए वाल्मिकी समाज पर विवादित बयान दिया.

राजस्थान: सदन में मंत्री शांति धारीवाल ने वाल्मिकी समाज पर दिया विवादित बयान, आज होगी जांच
बीजेपी के विधायक स्पीकर से इस मुद्दे पर मुलाकात करेंगे. (फाइल फोटो)

जयपुर: प्रदेश सरकार के मंत्री शांति धारीवाल ने बुधवार को विधानसभा की कार्यवाही की दौरान एक पुस्तक का जिक्र करते हुए वाल्मिकी समाज पर विवादित बयान दिया. राजस्थान विधानसभा में शांति धारीवाल के बयान को लेकर जमकर हंगामा हुआ. स्पीकर सीपी जोशी के आश्वासन के बाद बीजेपी सदस्यों ने अपना धरना खत्म कर दिया.

इस दौरान सदन में वापस आकर स्पीकर सीपी जोशी ने आश्वासन दिया कि गुरुवार को सदन में वो किताब मगंवाई जाएगी. जिसका ज्रिक मंत्री शांति धारीवाल ने अपने बयान में किया है. उसके बाद ही आगे कोई फैसला किया जाएगा.

अपने बयान के दौरान धारीवाल ने कहा कि इस तरह के लेख की निंदा की जानी चाहिए. जिस पर विपक्ष ने भी टेबल बजा कर सहमति जताई. लेकिन विवाद तब ज्यादा बढ़ गया जब मंत्री घारीवाल ने सबसे आखिर में लेखक के नाम का खुलासा करते हुए पीएम मोदी का नाम ले लिया. पीएम मोदी का नाम आते ही सदन में मौजूद बीजेपी विधायक उत्तेजित हो गए. साथ ही इस बयान को सदन की कार्यवाही से निकालने की मांग करने के साथ उनके बयान पर मांगी मांगने की भी मांग की. इस दौरान हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई. इसी हंगामे के दौरान यूडीएच विभाग की अनुदम मांगें पारित करा हो गई. 

बीजेपी विधायकों ने दिया वेल में धरना
विधानसभा स्थगित होने के तुरंत बाद बीजेपी के सभी नेता धारीवाल के बयान के विरोध में सदन के वेल में धरने पर बैठ गए. हालांकि स्पीकर सीपी जोशी ने चेयर से आकर बीजेपी विधायकों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने. जिसके बाद थोड़ी देर तक मंत्री शांति धारीवाल के खिलाफ नारेबाजी चलती रही. 

नेता प्रतिपक्ष ने स्पीकर से की मुलाकात
नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने स्पीकर सीपी जोशी के चेंबर में जाकर इस मुद्दे पर मुलाकात की. स्पीकर से कटारिया की बातचीत के बाद खुद स्पीकर सीपी जोशी सदन में वापस आए. जिसके बाद उन्होंने बीजेपी विधायकों से बातचीत की. 

लाइव टीवी देखें-:

स्पीकर ने बयान की जांच की बात कही
इस दौरान स्पीकर जोशी ने कहा कि गुरुवार सुबह धारीवाल के बयान से जुड़ी किताब मंगाई जाएगी और उनके कथन को जांचा जाएगा. प्रतिपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि धारीवाल ने गलत बयान दिया है और इस बयान को सदन की कार्यवाही से हटाए जाने की उनकी मांग है. अब गुरुवार सुबह 10 बजे बीजेपी के विधायक स्पीकर से इस मामले में मिलने जा रहे हैं.

सावरकर पर भी कर चुके हैं टिप्पणी
इससे पहले भी मंत्री शांति धारीवाल ने सावरकर की किताब में गाय के जिक्र को लेकर एक विवादित बयान दिया था. जिसका बीजेपी सदस्य़ों ने काफी विरोध किया था. इस बार पीएम नरेंद्र मोदी के कथित बयान को लेकर शांति धारीवाल ने बीजेपी को घेरने की कोशिश की है. लेकिन सदन में अच्छे संख्या बल के साथ बीजेपी भी सरकार के मंत्री को उल्टा घेरने में जुट गई है.