• 0/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    0बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    0कांग्रेस+

  • अन्य

    0अन्य

जयपुर में आयोजित हो रहा है खास अंदाज में क्रिकेट टूर्नामेंट, ब्लाइंड खिलाड़ी दिखाएंगे दम

लुई ब्रेल दृष्टिहीन विकास संस्थान की तरफ से इस खास टूर्नामेंट का आयोजन 18 से 20 मई के बीच किया जा रहा है. 

जयपुर में आयोजित हो रहा है खास अंदाज में क्रिकेट टूर्नामेंट, ब्लाइंड खिलाड़ी दिखाएंगे दम
प्रतियोगिता के दौरान 6 टीम के 96 प्लेयर्स हिस्सा लेंगे. (फाइल फोटो)

जयपुर: भारत में क्रिकेट का मैच देखना किसे पसंद नहीं. बात खेलने की हो या फिर देखने की तो फिर मनोरंजन से भरपूर इस खेल को कौन पसंद नहीं करता है. लेकिन इस बार जयपुर में आयोजित होने वाला क्रिकेट टूर्नामेंट एक खास अंदाज में शहरवासियों को देखने को मिलेगा. जिसमें नेत्रहीन (दृष्टिबाधित) खिलाड़ी क्रिकेट के मैच के दौरान मैदान में अपना जलवा बिखेरेंगे.

राजधानी जयपुर में लुई ब्रेल दृष्टिहीन विकास संस्थान की तरफ से इस खास टूर्नामेंट का आयोजन 18 से 20 मई के बीच किया जा रहा है. सवाई मानसिंह स्टेडियम में आयोजित होने वाले इस मैच के दौरान दिव्यांगजनों की अलग दुनिया देखने का भी मौका मिलेगा. जिसमें शामिल होकर आप भी उनके क्रिकेट के शार्ट्स का आनंद ले सकते हैं. राज्यस्तरीय दृष्टिबाधित क्रिकेट प्रतियोगिता के दौरान 6 टीम के 96 प्लेयर्स हिस्सा लेंगे. जिसका फाइनल मैच 20 मई को आयोजित होगा. 

जानिए क्या है नियम 
प्रतियोगिता में दृष्टिबाधित प्लेयर्स के लिए खास बॉल का इस्तेमाल किया जाता है. इस गेंद की खासियत यह है कि यह आवाज करती है, जिससे दृष्टिबाधित प्लेयर्स को मैच के दौरान मदद मिलती है. इस दौरान हर टीम में खिलाडियों को तीन कैटेगरी में बांटा जाता है. जिसमें तीन कैटगरी के प्लेयर्स शामिल हैं. पहला, पूरी तरह से दृष्टिबाधित, दूसरा, जिन्हें तीन मीटर तक दिखाई दे सकता है. वहीं, तीसरी कैटगरी में आशिंक दृष्टिबाधित शामिल होते हैं. मैच में राजस्थान की 6 टीमें जयपुर, उदयपुर, जोधपुर ,बीकानेर और अजमेर से भाग लेने जा रही है. टुर्नामेंट के दौरान 15 ओवर के 7 मैच का आयोजन होगा. 

दृष्टिबाधित क्रिकेट पर एक नजर
दृष्टिबाधित के क्रिकेट खेलने की शुरुआत 1922 में मेलबर्न में हुई थी. विश्व दृष्टिबाधित क्रिकेट काउंसिल 1996 से दृष्टिबाधित क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन करवा रही है. पूरी दुनिया में अब तक पांच दृष्टिबाधित विश्वकप टूर्नामेंट आयोजित हो चुके हैं. 1998 में पहला दृष्टिबाधित विश्व कप नई दिल्ली में आयोजित हुआ. जिसमें दक्षिण अफ्रीका की टीम विजेता रही थी. जिसके बाद 2002 में दृष्टिबाधित विश्व कप का आयोजन चेन्नई में हुआ था. वहीं, 2006 के तीसरे दृष्टिबाधित विश्वकप का आयोजन पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में हुआ था. इसके बाद 2014 और 2015 का चौथे और पांचवे विश्व कप का आयोजन भारत में हुआ था. बेंगलुरु में 2012 में पहली बार दृष्टिबाधित खिलाड़ियों के लिए T 20 विश्वकप भी आयोजित हो चुका है.