डीडवाना के सांभर में मृत पक्षियों का मिलना अब भी जारी, झील सरक्षण में जुटा प्रशासन

सांभर झील को अतिक्रमण से मुक्त करने की प्रसाशन द्वारा लगातार मुस्तेदी से कार्यवाही की जा रही है.

डीडवाना के सांभर में मृत पक्षियों का मिलना अब भी जारी, झील सरक्षण में जुटा प्रशासन
नमक की क्यारियां बनाने वाले लोगों के खिलाफ कार्यवाही

डीडवाना: सांभर झील को अतिक्रमण से मुक्त करने की प्रसाशन द्वारा लगातार मुस्तेदी से कार्यवाही की जा रही है. शुक्रवार को नावा उपखण्ड अधिकारी ब्रह्मलाल जाट के सुपरविजन में सांभर झील क्षेत्र के नावा से सटे मोहनपुरा ग्राम में अवैध रूप से कब्जा करते हुए अतिक्रमण कर नमक की क्यारियां बनाने वाले लोगों के खिलाफ कार्यवाही करते हुए नमक क्यारियों को नष्ट किया गया. 

मौके पर नावा तहसीलदार गुरुप्रसाद तंवर और राजस्व विभाग के कर्मचारी की टीम ने दो जेसीबी मशीन की सहायता से नमक उत्पादन करने को लेकर अवैध रूप से  करीब 70 बीघा भूमि पर बनी अवैध नमक क्यारियों में करीब 35 बीघा तक की नमक क्यारियों को नष्ट किया. 

कार्यवाही के लिए प्रसाशन का अमला मौके पर उपस्थित रहकर झील सरक्षण को लेकर कार्यवाही में जुटा हुआ है. आये दिन प्रसाशन की कार्यवाही के दौरान झील से अतिक्रमण हटाते हुए झील से नमक व्यवसाइयों द्वारा बनाई गई अवैध क्यारियां और विद्युत केबले, पानी के पाइप आदि जब्त करने की कार्यवाही को अंजाम दिया जा रहा है. 

प्रसाशन द्वारा झील क्षेत्र में प्रवासी पक्षियों की मौत का मामला उछलने पर राज्य का समूचा प्रसाशनिक तंत्र हरकत में आया और जीवित पक्षियों को रेस्क्यू कर बचाने और मृत पक्षियों को एकत्रित करवाने में जुट गया था, लेकिन अब धीरे-धीरे पक्षियों का मुद्दा ठंडा होता नजर आ रहा है. 

उपखण्ड का प्रसाशनिक तंत्र अब पक्षियों के मुद्दे को छोड़ कर झील क्षेत्र में फैले अतिक्रमण को हटाने मव व्यस्त दिखाई दे रहा है. शुक्रवार को भी लागातर झील क्षेत्र में मृत पक्षियों का मिलना जारी है. वन विभाग और एसडीआरएफ टीम द्वारा 15 मृत और 1 जीवित पक्षी का रेस्क्यू किया गया, जिनमें जीवित एक पक्षी को पशुपालन विभाग द्वारा उपचार कर काचरोदा नर्सरी में भेजा दिया गया है.