मंत्री बनने के बाद राजेंद्र गुढ़ा का बयान, बिना कोई प्रयास के ही बन गया दोनों बार मंत्री
X

मंत्री बनने के बाद राजेंद्र गुढ़ा का बयान, बिना कोई प्रयास के ही बन गया दोनों बार मंत्री

अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले उदयपुरवाटी विधायक राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने मंत्री बनने के बाद फिर एक बड़ा बयान दिया है. 

मंत्री बनने के बाद राजेंद्र गुढ़ा का बयान, बिना कोई प्रयास के ही बन गया दोनों बार मंत्री

Jhunjhunu: अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले उदयपुरवाटी विधायक राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने मंत्री बनने के बाद फिर एक बड़ा बयान दिया है. जयपुर उनके निवास पर स्वागत करने पहुंचे उदयपुरवाटी विधानसभा के कार्यकर्ताओं से बातचीत करते हुए गुढ़ा (Rajendra Gudha) ने कहा कि आप चाहे गुगल पर सर्च कर लेना. जैसे मैं मंत्री बना हूं शायद ही कोई दूसरा बना हो. क्योंकि ना तो मेरे पास पार्टी थी, ना ही सिस्टम और ना ही मैंने कोई प्रयास किया. मैं दो बार विधायक बना और दोनों ही बार मंत्री बन गया. इससे पहले 70 सालों में पहली बार उदयपुरवाटी से विधायक चुनने के बाद मंत्री बनकर मैंने ही इतिहास लिखा और अब कल फिर से इतिहास लिखा गया है.

यह भी पढ़ें - वन विभाग में बर्ड फ्लू को लेकर हड़कंप, पक्षियों में संक्रमण का खतरा बढ़ा

उन्होंने कहा कि मंत्री बनने के लिएस प्रयास नहीं करने पड़ते. यह सब तकदीर का खेल है. वरना भंवरलाल शर्मा (Bhanwar Lal Sharma) सात बार विधायक चुने गए, लेकिन आज तक मंत्री नहीं बने. झुंझुनूं के नवलगढ़ से भी भंवरसिंह शेखावत 5 बार, उदयपुरवाटी से श्योनाथसिंह गिल चार बार विधायक व एक बार सांसद और श्रवणकुमार भी चार—पांच बार विधायक बने, लेकिन मंत्री नहीं बन पाए. उन्होंने कहा कि शेखावाटी के लोगों में एक अनूठी कला है. वे जहां जाते हैं...नेतृत्व करते हैं. अपने मजाकिया लहजे में उन्होंने कहा कि झाड़ू निकालने का काम भी यदि कोई शेखावाटी का व्यक्ति कहीं करता है तो उस यूनियन का अध्यक्ष हम ही होते हैं. ऐसे में अब उन्हें मंत्री बनाया गया है. इसलिए क्षेत्र का कोई काम नहीं रूकने देंगे. साथ ही कहा कि जो मंत्री उनका काम रोकेगा, उसकी फाइल वे भी रोककर अड़ंगा लगा देंगे.

Reporter : Sandeep Kedia

Trending news