Pakistan ने हेरोइन मंगवाने वाला कुख्यात तस्कर गिरफ्तार, बकरियों के बाड़े में बैठा था छुपकर

सीमा पार पाकिस्तान से हेरोइन मंगवाने के मुख्य आरोपी कुख्यात तस्कर को रविवार को सीमा सुरक्षा बल ने पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार किया है. 

Pakistan ने हेरोइन मंगवाने वाला कुख्यात तस्कर गिरफ्तार, बकरियों के बाड़े में बैठा था छुपकर
तस्कर हालिया खान ने सांचौर दरगाह, अजमेर दरगाह, गुजरात के वापी सहित कई स्थानों पर फरारी काट रहा था.

Barmer : सीमा पार पाकिस्तान से हेरोइन मंगवाने के मुख्य आरोपी कुख्यात तस्कर को रविवार को सीमा सुरक्षा बल ने पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार किया है. भारत पाक सीमा के नजदीक से पकड़े गए कुख्यात तस्कर (Smuggler) हालिया खान सीमा सुरक्षा बल ने जीआईसी के लिए बीजराड़ थाना पुलिस को सुपुर्द कर दिया है. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan में और मजबूत होगी MGNREGA योजना, अकुशल श्रमिकों मिलेगा कौशल प्रशिक्षण

सीमा सुरक्षा बल डीआईजी विनीत कुमार (BSF) ने बताया कि 15 फरवरी 2021 को बाड़मेर पुलिस एटीएस एसओजी ने कार्रवाई करते पाकिस्तान से आई 7 किलो हेरोइन को जब्त कर दो तस्करों मिरु खान व बचाया खान को गिरफ्तार किया था, लेकिन हालिया खान फरार हो गया था. जिसके बाद से ही बीएसएफ पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां लगातार इस कुख्यात तस्कर की तलाश कर रही थी. 

तस्कर हालिया खान ने सांचौर दरगाह, अजमेर दरगाह, गुजरात के वापी सहित कई स्थानों पर फरारी काट रहा था. कुछ दिन पहले ही यह गागरिया इलाके में आया था. जिसकी सूचना सीमा सुरक्षा बल को मिलने पर बीएसएफ की इंटेलिजेंस टीम ने इस सूचना को वेरीफाई किया और बीजराड़ व रामसर थाना पुलिस (Barmer Police) के सहयोग से पीरे का टीब्बा गांव में दबिश दी और मवेशियों के तबेले से आरोपी कुख्यात तस्कर हालिया खान को गिरफ्तार किया. 

प्रारंभिक पूछताछ में हालिया खान ने अपनी पहचान छुपाने के लिए गुमराह करने की कोशिश की, लेकिन सख्त पूछताछ के बाद आलिया खान ने पाकिस्तान में बैठे तस्करों से हेरोइन मंगवाने का बात को स्वीकार कर लिया. जिसके बाद सीमा सुरक्षा बल ने सुरक्षा एजेंसियों से संयुक्त पूछताछ के लिए बीजराड़ थाना पुलिस को सुपुर्द कर दिया. बीएसएफ को पुलिस को अंदेशा है कि पूछताछ के बाद हालिया से कई और तस्करी के राज खुल सकते हैं.

हालिया खान पूर्व में भी 60 किलो हेरोइन तस्करी के मामले में पकड़ा जा चुका है और 10 साल की सजा काटने के बाद 2019 में ही जेल से बाहर आया था. जेल से बाहर आते ही पाकिस्तान में बैठे तस्करों से व्हाट्सएप कॉलिंग से संपर्क स्थापित कर वापस हेरोइन तस्करी में लिप्त हो गया. 15 फरवरी को हेरोइन तस्करी के मामले में बीएसएफ में 19 के सहयोग से फिर से धर दबोचा है.

रिपोर्ट : भूपेश आचार्य

यह भी पढ़ें- बजट की कमी के चलते राजस्थान में लागू नहीं हो पाया आंध्र प्रदेश वाला मनरेगा प्रोजेक्ट!