close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्‍थान: ऐसा मंदिर जहां दिन में 12 बजे जन्‍म लेते हैं कान्‍हा, रात में बंद हो जाते हैं पट

जयपुर के इस मंदिर में भगवान कृष्ण का जन्म रात की बजाए शनिवार को दिन में 12 बजे हुआ. इस दौरान भगवान के जन्म के बाद मंदिर परिसर ढोल-नगाड़ों से गुंजायमान रहा

राजस्‍थान: ऐसा मंदिर जहां दिन में 12 बजे जन्‍म लेते हैं कान्‍हा, रात में बंद हो जाते हैं पट
राधा दामोदर के इस मंदिर को 500 साल पुराना बताया जाता है.

जयपुर: भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव पूरे देश में हर्षोउल्लास से मनाया जा रहा है. वैसे पूरे देश में भगवान कृष्ण का जन्म रात के 12 बजे मनाया जाता है. लेकिन राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक ऐसा मंदिर है, जहां भगवान का जन्म दोपहर के 12 बजे मनाया गया.

जयपुर के इस मंदिर में भगवान कृष्ण का जन्म रात की बजाए शनिवार को दिन में 12 बजे हुआ. इस दौरान भगवान कृष्ण के जन्म के बाद मंदिर परिसर ढोल-नगाडों से गुंजायमान रहा. कान्हा के जन्म के बाद मंदिर में मौजूद महिलाओं ने बधाई गीत भी गाए. 

पंचामृत से किया गया अभिषेक 
जयपुर के चौड़ा रास्ता स्थित राधा दामोदर मंदिर में भगवान कृष्ण का जन्म रात की जगह दिन में मनाया जाता है. कृष्ण के जन्म का महिलाएं इंतजार करतीं है. मंदिर के पट खुलते ही महिलाओं ने भगवान के दर्शन किए. महिलाओं ने भगवान के जन्म को मोबाइलों में कैद किया. इस दौरान राधा दामोदर का पंचामृत से अभिषेक किया गया. इसके बाद भगवान की विशेष झांकी के श्रद्धालुओं ने दर्शन किए.

LIVE TV देखें

500 साल पुराना है मंदिर
राधा दामोदर के इस मंदिर को 500 साल पुराना बताया जाता है. कृष्ण जन्माष्टमीं पर रात 12 बजे कृष्ण का जन्म होता है. लेकिन बताया जाता है कि राधा दामोदर के इस मंदिर में भगवान की प्रतिमा बाल स्वरूप की है. जिसके चलते यहां दोपहर 12 बजे उनका जन्म मनाया जाता है. वहीं रात को 12 बजे से पहले पट बंद कर दिए जाते हैं.