close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: बरनी नदी की तेज धार में फंसा युवक, लोगों ने कुछ इस तरह बचाई जान

बता दें कि बारां के पांच युवक रविवार शाम को जलवाडा कस्बें के पास बरनी नदी में पिकनिक मनाने गए थे. तभी यह युवक पानी में नहाने के लिए उतरा और लेकिन तेज बहाव के कारण वह बह गया.

कोटा: बरनी नदी की तेज धार में फंसा युवक, लोगों ने कुछ इस तरह बचाई जान
बारिश के बाद जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है.

राम मेहता/बारां: कोटा के बारां में नदी में नहाने गया युवक पानी के तेज बहाव में बह गया और बहते हुए पुलिया के मुहाने में जा फंसा. वहीं नदी पर मौके पर मौजूद लोग बचाव में दौड़ पड़े और बह रहे युवक का हाथ पकड़ लिया. मौके पर मौजूद के लोगों को मुताबिक युवक का आधे से अधिक शरीर पुलिया के मुहाने के अंदर घुस गया. लेकिन लोगों ने युवक को बचाने की मुहिम जारी रखी और 20 मिनट की मश्क्कत के बाद बड़ी मुश्किल से युवक को बाहर निकाल कर उसकी जान बचाई. हालांकि इस दौरान युवक बुरी तरह से घायल हो गया.

बता दें कि बारां के पांच युवक रविवार शाम को जलवाडा कस्बें के पास बरनी नदी में पिकनिक मनाने गए थे. तभी यह युवक पानी में नहाने के लिए उतरा और लेकिन तेज बहाव के कारण वह बह गया. लेकिन पुलिया पर मौजूद लोगों ने बीस मिनट की बडी मश्क्कत के बाद युवक को बाहर निकाला और उसकी जान बचाई. गौरतलब है कि प्रदेश के कई इलाकों में मुसलाधार बारिश के कारण सभी नदी नालों में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है. 

जबकि कई इलाकों में तो कमर तक पानी बह रहा है इसके चलते लोगों का घर से बाहर निकलना भी दूभर हो गया है. बारिश के चलते तमाम दुकानें बंद है और कई इलाकों में तो कर्फ्यू जैसे हालात बने हुए हैं. लगातार बारिश के चलते देर रात को ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह को जोड़ने वाली वीआईपी नई सड़क पर पहाड़ का मलबा ढह गया जिसके चलते रोड बाधित हो गई. लगातार हो रही बारिश के बाद जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है.

वहीं बारां जिलें में भी बाढ़ के कारण क्षेत्र के दर्जनों मकान टूट गए है. यहां तक कि सरकारी कार्यालय का रिकार्ड भी पानी के कारण गल गया है. वहीं कई सड़कें टूट गई है. खबरे के मुताबिक अभी तक बाढ़ के कारण लाखों करोड़ो का नुकसान हो चुका है. भारी बरसात की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन ने स्कूलों में छुटी की घोषणा कर दी. 

बारां जिलें के छबडा छीपाबडौद क्षेत्र में बाढ़ का पानी उतरने के बाद रुला देने वाला तबाही का मंजर नजर आ रहा है. क्षेत्र में कई पक्के मकान और कई कच्चे मकान जमींदोज हो गए. हालंकि बाढ़ पीड़ितों का सर्वे करने पहुंचे उपखंड अधिकारी रामावतार बरनाला ने पटवारियों से सर्वे करवाकर हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया है. उनके राशन की व्यवस्था भी करवाई वहीं उपखंड के कार्मिकों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए.