close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अलवर में कथित 'लव जिहाद' का मामला, पुलिस की लापरवाही पर उग्र हुई भीड़

महापंचायत में मौजूद वक्ताओं ने पुलिस प्रशासन को मौके पर बुलाकर बात करनी चाही, लेकिन प्रशासन मौके पर नहीं पहुंचा तो ग्रामीणों ने रोड जाम कर दिया. ग्रामीणों ने जब रोड जाम किया तो जाम को खुलवाने वहां पुलिस आई. लोगों ने पुलिस पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए. 

अलवर में कथित 'लव जिहाद' का मामला, पुलिस की लापरवाही पर उग्र हुई भीड़
गुस्साए ग्रामीणों ने एक बाइक में आग लगा दी और बस व ट्रॉले में तोड़फोड़ कर दी. प्रतीकात्मक तस्वीर
Play

जुगल गांधी, अलवर: राजस्थान के अलवर जिले में कथित तौर से लव जिहाद का मामला सामने आया है. रामगढ़ पुलिस थाना अंतर्गत जुगरावर की रूंध में रविवार को लव जिहाद के मुद्दे को लेकर हुई महापंचायत में ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए इनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की. महापंचायत में मौजूद वक्ताओं ने पुलिस प्रशासन को मौके पर बुलाकर बात करनी चाही, लेकिन प्रशासन मौके पर नहीं पहुंचा तो ग्रामीणों ने रोड जाम कर दिया. ग्रामीणों ने जब रोड जाम किया तो जाम को खुलवाने वहां पुलिस आई. लोगों ने पुलिस पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए. 

इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज करके जाम करने वाले लोगों को खदेड़ दिया. इससे गुस्साए ग्रामीणों ने एक बाइक में आग लगा दी और बस व ट्रॉले में तोड़फोड़ कर दी. ट्रक में आग लगाने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उसे बचा लिया. वहां तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है और अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया जा रहा है. 

बताया जा रहा है कि यह मामला कथित तौर से लव जिहाद को लेकर था, जिसमें आरोप है कि एक समुदाय की लड़की को भगाकर ले जाने के बाद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. इस बात को लेकर जुगरावर रूंध में हिंदू महासभा की ओर से महापंचायत की गई थी. पूरे इलाके में हालात तनाव पूर्ण है.

बताया जा रहा है कि उग्र हुए दोनों पक्षों के लोगों ने पहले एक-दूसरे पर पथराव किया और फिर अलवर-भरतपुर राजमार्ग पर जाम लगा दिया. इस दौरान उपद्रवियों ने एक बाइक को आग लगा दी. यहां से गुजर रही रोडवेज बस समेत कई गाड़ियों को प्रदर्शनकारियों ने रोक दिया और गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़ की. प्रदर्शन कर रहे लोग बस में आग लगाने जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया. हालात बिगड़ता देख कई थानों से अतिरिक्त फोर्स को मौके पर बुलाया गया. इस दौरान पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज किया और मौके से उन्हें खदेड़ दिया.

रामगढ़ थाना अधिकारी चौथमल जाखड़ ने बताया कि युवती के परिजनों ने अरावली विहार थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इस बारे में 3 दिन पहले भी गांव में एक बैठक हुई थी.

खबरों के मुताबिक, हिंदु महासभा अपनी पंचायत में प्रशासन को बुला रहा था. कहा जा रहा है कि प्रशासन महासभा में नहीं पहुंचा. इस बात पर भी लोगों ने नाराजगी जताई है. खबर यह भी है कि इस मामले को भड़काने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा है. और लव जिहाद के नाम पर लोगों को भड़काने की कोशिश की जा रही है.

गौरतलब है कि अलवर का रामगढ़ पिछले कुछ समय से गौ तस्करी और मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर चर्चाओ में है. पहलू और रकबर खान की अलवर के इसी इलाके में भीड़ द्वारा पीट पीटकर हत्या कर दी गई थी.