राजस्थान: CEC ने मुख्य सचिव, DGP के साथ की बैठक, चुनाव के तैयारियों की ली जानकारी

CEC अरोड़ा ने अधिकारियों से प्रशासन और कानून व्यवस्था से जुडे विषयों पर चर्चा के दौरान आवश्यक निर्देश भी दिए.

राजस्थान: CEC ने मुख्य सचिव, DGP के साथ की बैठक, चुनाव के तैयारियों की ली जानकारी
उन्होंने कहा, ''क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में जाप्ता लगाया जाए.''

जयपुर: मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने अपने राजस्थान दौरे के दूसरे दिन शनिवार को प्रदेश के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, पुलिस महानिदेशक कपिल गर्ग, अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) राजीव स्वरूप सहित पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक के दौरान 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा की गई. इस दौरान आयोग के सचिव राहुल शर्मा भी मौजूद थे.

बैठक के दौरान CEC अरोड़ा ने अधिकारियों से प्रशासन और कानून व्यवस्था से जुडे विषयों पर आवश्यक निर्देश भी दिए. इस दौरान बैठक में मौजूद मुख्य सचिव ने आयोग द्वारा निर्धारित स्थानान्तरण नीति की पूर्णतया पालना कराने, निर्वाचन विभाग से संबंधित समस्त पदों पर अधिकारियों की नियुक्ति कराने, समस्त मतदान केन्द्रों पर आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने, दिव्यांगजनों को मतदान केन्द्रों पर विशेष सुविधाएं प्रदान करने के लिए आश्वस्त किया. 

मुख्य चुनाव आयुक्त को लोकसभा चुनाव की तैयारियों की जानकारी दी गई

बैठक के दौरान कानून एवं व्यवस्था के नोडल आफिसर एमएल लाठर ने पीपीटी के माध्यम से चुनाव की तैयारियों से चुनाव आयुक्त को अवगत कराया. मुख्य चुनाव आयुक्त ने अतिरिक्त मुख्य सचिव, गृह राजीव स्वरुप से चर्चा के दौरान लोकसभा आम चुनाव के लिए निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले सीएपीएफ के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं कर उन्हें विभिन्न जिलों के क्रिटिकल मतदान केन्द्रों तक पहुंचाने एवं आवश्यकतानुसार उडनदस्ता एवं स्थैतिक निगरानी दलों में लगाने की व्यवस्था की जाए. 

पुलिस महानिदेशक को भी मिले निर्देश

वहीं, पुलिस विभाग की आवश्यकता के अनुसार बॉर्डर होमगार्ड, फॉरेस्ट गार्ड एवं होमगाड्र्स को निर्वाचन कार्य के लिए उपलब्ध करवाने के निर्देश देते हुए कानून-व्यवस्था से संबंधित अन्य बिन्दुओं पर भी चर्चा की. इस दौरान अरोड़ा ने पुलिस महानिदेशक कपिल गर्ग से चर्चा करते हुए कहा कि राज्य पुलिस गैर जमानती वारंटों की समय पर तामील कराने, अवैध हथियार एवं शराब जब्त करने, अनुज्ञाधारी हथियारों का भौतिक सत्यापन करवाकर थानों में जमा करवाने, वल्नरेबल क्षेत्रों में आवश्यक मात्रा में पुलिस बंदोबस्त करने के निर्देश दिए.

उन्होंने कहा, ''क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में जाप्ता लगाया जाए. साथ ही उड़न दस्ता एवं स्थैतिक निगरानी दलों के द्वारा पूरे क्षेत्र की निगरानी करने, किसी प्रकार की नगद राशि, वस्तुएं (धोती, कंबल, साडी आदि), शराब आदि का वितरण मतदाताओं को नहीं किया जा सके.''

उन्होंने यह भी कहा, ''अवैध हथियार, मदिरा एवं वाहनों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही करके इन्हें जब्त किया जाए. जबकि पड़ौसी राज्यों से लगने वाली सीमा पर चेक-पोस्ट बनाकर यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी अवैध वाहन, शराब, हथियार एवं असामाजिक तत्वों का प्रवेश राज्य में नहीं हो सके. बैठक के दौरान अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रेखा गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम सहित कई अधिकारीगण उपस्थित रहे.