राजस्थान में अब चिट्ठी के जरिए कांग्रेस जनता से करेगी वोट की अपील

लोकसभा चुनाव में मिशन 25 को हासिल करने के लिए कांग्रेस हर संभव रणनीति पर काम कर रही है. राजस्थान में कांग्रेस मतदाताओं को रिझाने के लिए नई योजना के जरिए एक ऐसा मास्टर स्ट्रोक खेलने जा रही है

राजस्थान में अब चिट्ठी के जरिए कांग्रेस जनता से करेगी वोट की अपील
कांग्रेस के 60 हजार कार्यकर्ताओं को खास काम सौंपा गया है

जयपुर: प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया के जरिए चुनाव प्रचार के बाद अब कांग्रेस ने आम आदमी तक सीधे पहुंच बनाने के लिए खास तरह की रणनीति पर काम शुरू किया है. कांग्रेस ने राजस्थान में अपने साठ हजार कार्यकर्ताओं को एक खास मिशन सौंपा है. इस मिशन में कार्यकर्ताओं को राहुल गांधी के संदेश को घर घर पहुंचाने की जिम्मेदारी दी गई है. राहुल गांधी के संदेश में गरीब तबके को न्याय योजना के जरिए मिलने वाले लाभ के बारे में विस्तार से बताया गया है. सवाल यह है कि क्या यह रणनीति लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का मास्टरस्ट्रोक साबित हो सकती है.

लोकसभा चुनाव में मिशन 25 को हासिल करने के लिए कांग्रेस हर संभव रणनीति पर काम कर रही है. राजस्थान में कांग्रेस मतदाताओं को रिझाने के लिए नई योजना के जरिए एक ऐसा मास्टर स्ट्रोक खेलने जा रही है जो लोकसभा चुनाव में बदलाव की बयार बह सकता है. राजस्थान में कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणापत्र में शामिल न्याय योजना को घर घर तक पहुंचाने के लिए खास रणनीति पर काम शुरू कर दिया है. 

राजस्थान के 52 हजार बूथ पर कांग्रेस के 60 हजार कार्यकर्ताओं को खास काम सौंपा गया है. इन कार्यकर्ताओं को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय की तरफ से राहुल गांधी के संदेश के चिट्ठी भिजवाई गई है. इस चिट्ठी में राहुल गांधी ने विशेष गरीब तबके को न्याय योजना से मिलने वाले लाभ के बारे में जानकारी देते हुए कांग्रेस के पक्ष में वोट देने की अपील की है.

राजस्थान कांग्रेस के संगठन महासचिव महेश शर्मा ने बताया की राजस्थान में करीब 50 लाख ऐसे मतदाता जो कांग्रेस की न्याय योजना के दायरे में आते हैं. यह 50 लाख मतदाता राजस्थान की सभी 25 लोकसभा सीटों को प्रभावित करने की क्षमता रखते हैं. प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय की तरफ से शक्ति प्रोजेक्ट के कार्यकर्ताओं को एक खास निर्देश जारी किए गए हैं कि राहुल गांधी की यह चिट्ठी घर घर जाकर देनी है और गरीब परिवार के सदस्यों को चिट्ठी का यह संदेश पढ़कर सुनाना है ताकि उन्हें यह पता चल सके कि राहुल गांधी ने उनके लिए इस प्रकार की योजना तैयार की है.