close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा सेंट्रल जेल में कैदियों ने पुलिसकर्मियों पर किया हमला, कई घायल

घटना उस समय की है जब सरकार के आदेश पर राजस्थान के सभी सेन्ट्रल जेल में हाई अलर्ट घोषित किया गया था और इसी के चलते कोटा जेल के अधिकारी सुबह जेल में तलाशी लेने के लिए पहुंचे थे.

कोटा सेंट्रल जेल में कैदियों ने पुलिसकर्मियों पर किया हमला, कई घायल
पुलिस को भी जेल में हल्का बल प्रयोग करना पड़ा.

कोटा/ केके शर्मा: राजस्थान के कोटा सेन्ट्रल जेल में गुरुवार को हार्डकोर बदमाशों ने जम कर उत्पात मचाया. बदमाशों ने चैकिंग के लिए गए जेलर और जेलकर्मियों पर हमला कर दिया. पथराव करते हुए बदमाशों ने जेलर का गला पकड़ लिया और उसे मारने की कोशिश की. लगभग 1 घंटे तक ये उत्पात चलता रहा जिसके बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया और जेल में आरएसी तैनात कर दी गई.

घटना उस समय की है जब सरकार के आदेश पर राजस्थान के सभी सेन्ट्रल जेल में हाई अलर्ट घोषित किया गया था और इसी के चलते कोटा जेल के अधिकारी सुबह जेल में तलाशी लेने के लिए पहुंचे थे. हार्डकोर बदमाशों ने जेल अधिकारीयों पर हमला कर दिया और जेलर योगेश तेजी का गला पकड़ लिया. बदमाशों का आतंक यहीं नहीं थमा उन्होंने जेल अधिकारीयों पर पथराव शुरू कर दिया. जिससे जेल का पूरा जाब्ता अंदर पहुंचा और बदमाशों को नियंत्रित करने की कोशिश की गई लेकिन बदमाश लगातार पत्थर बरसाते रहे और उपद्रव मचाते रहे.

सूचना पर पहुंची जेल अधीक्षक सुमन मालिवाल के भी हाथ पर चोट आई. मामले की जानकारी कोटा एसपी और जिला कलेक्टर को दी गई जिस पर कोटा पुलिस का अतिरिक्त जाब्ता बुलवाया गया. आरएसी की टुकड़ी जेल में तैनात कर दी गई लेकिन 17 खूंखार बदमाश लगातार जेलकर्मियों से मारपीट करते रहे.

जेल अधीक्षक सुमन मालिवाल ने खुद बताया की वो मंजर देखकर लगा कि कोई बड़ी अनहोनी हो हुई है लेकिन ग़नीमत रही की किसी तरह बदमाशों पर काबू पा लिया गया. जब बदमाशों का आतंक बहुत ज्यादा बढ़ गया तो जवाब में पुलिस को भी जेल में हल्का बल प्रयोग करना पड़ा. मालिवाल ने बताया की कोटा सेन्ट्रल जेल में 19 से ज्यादा गैंगस्टर बंद है जो बेहद खूंखार है. मारपीट में 10 से ज्यादा जेलकर्मी घायल हुए है कुछ के हाथ में फ्रेक्चर है तो किसी की उंगलियों में. जिनका एमबीएस अस्पताल में उपचार करवाया गया है. मामले पर जेल प्रशासन द्वारा नयापुरा थाने में 17 हार्डकोर बदमाशों के खिलाफ राजकार्य में बाधा एवम् मारपीट का प्रकरण का मामला दर्ज करवाया गया है.

जिसमे मुख्य रूप से शकील बकरा, टीपू सुल्तान, मुकेश योगी सहित कुल 17 हार्डकोर क्रिमिनल्स को नामजद किया गया है. बदमाशों की इस हरकत के बाद जेल प्रशासन भी सकते में है कि आखिर जेल में बंद होने के बाद भी कैदियों की मानसिक अवस्था में कैसे सुधार किया जाए कि वो जुर्म की दुनिया को छोड़ कर फिर से समाज में स्थापित हो सकें.