राजस्थान: लोकसभा चुनाव को लेकर आयोग ने जारी किया 'वोटर हैल्पलाइन नंबर'

श्री कुमार ने बताया कि वोटर हेल्पलाइन टोल फ्री नबंर-1950 के माध्यम से मतदाताओं को मतदान व मतदाता सूची संबंधी हर प्रकार की अपडेट जानकारी घर बैठे मिल सकेगी

राजस्थान: लोकसभा चुनाव को लेकर आयोग ने जारी किया 'वोटर हैल्पलाइन नंबर'
इसके जरिए कोई भी मतदाता मतदान प्रक्रिया से जुड़ी शिकायतें भी कर सकता है

जयपुर: मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री आनंद कुमार ने शुक्रवार को प्रदेश में वोटर हैल्प लाइन नंबर 1950 की लॉन्चिंग की. इसके जरिए कोई भी मतदाता राज्य एवं जिला स्तर पर मतदान संबंधी जानकारी, सुझाव व फीडबैक ले सकता है तथा मतदान प्रक्रिया से जुड़ी शिकायतें भी कर सकता है.

श्री कुमार ने बताया कि वोटर हेल्पलाइन टोल फ्री नबंर-1950 के माध्यम से मतदाताओं को मतदान व मतदाता सूची संबंधी हर प्रकार की अपडेट जानकारी घर बैठे मिल सकेगी. उन्हें इसके लिए दफ्तरों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. 

श्री कुमार ने बताया कि राज्य स्तर पर मुख्यालय पर 1800-1800-1950 नंबर पर 'वोटर हैल्प लाइन' के रूप में काम कर रही है. उन्होंने बताया कि सभी जिलों में सीधे 1950 डायल की जा सकती है. जिले से बाहर बैठे व्यक्ति को उस जिले का एसटीडी कोड के साथ 1950 नंबर डायल करना होगा. 

लोकसभा चुनाव में मतदान का प्रतिशत बढ़े इसके लेकर आयोग अभी से अपनी कोशिशे शुरू कर दी है. इसी मुद्दे पर राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त प्रेम सिंह मेहरा ने कहा कि एक-एक वोट लोकतंत्र प्रणाली को मजबूत करता है. ऐसे में केवल अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज करवाना पर्याप्त नहीं है. 

उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से अब तक आयोग और निर्वाचन विभाग द्वारा जो भी नवाचार किए गए हैं, उन सबका मकसद 'कोई भी मतदाता छूटे नहीं रहा है. मतदाता को भी अपने मत की कीमत समझकर ज्यादा से ज्यादा संख्या में मतदान प्रक्रिया का हिस्सा बनना चाहिए. राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त ने कहा कि युवा और नए मतदाताओं का अधिकाधिक पंजीयन हो और पंजीयन मतदान में भी बदले तो आने वाले समय में प्रदेश की तस्वीर कुछ और होगी.

सुनील अरोड़ा ने कहा कि 1952 से लेकर 2014 तक हुए सभी चुनावों में निर्वाचन विभाग, जिला स्तर के अधिकारियों और जन प्रतिनिधियों ने मतदान प्रतिशत बढ़ाने में अपनी-अपनी भूमिका बखूबी निभाई है. उन्होंने कहा कि इन प्रयासों का निर्वहन आने वाले चुनाव में और भी बेहतर तरीके से किया जाना चाहिए.