close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: कर्ज माफी समिति की सिफारिश, किसानों का पूरा लोन माफ करे सरकार

अगली बैठक में किसानों की कर्ज माफी के कारण पड़ने वाले आर्थिक बोझ पर चर्चा की जायेगी

राजस्थान: कर्ज माफी समिति की सिफारिश, किसानों का पूरा लोन माफ करे सरकार
धारीवाल की अध्यक्षता में शनिवार को कमेटी की बैठक हुई

जयपुर: राजस्थान के शहरी विकास मंत्री शांति धारीवाल ने रविवार को कहा कि किसानों का कर्ज माफ करने के लिए गठित समिति ने राज्य में 2014 से 2018 तक कथित आत्महत्या करने वाले सभी किसानों का पूरा कर्जा माफ करने की सिफारिश की है, जिसे मुख्यमंत्री के पास भेजा जायेगा. ऋण माफी के लिये राज्य सरकार ने हाल ही में मंत्रियों ओर अंतर्विभागीय अधिकारियों की एक कमेटी का गठन किया था. धारीवाल की अध्यक्षता में शनिवार को कमेटी की बैठक हुई.

बैठक में तय किया गया कि राज्य में कथित आत्महत्या करने वाले सभी किसानों का पूरा कर्जा माफ करने के लिए मुख्यमंत्री के पास अनुशंसा भेजी जाएगी. धारीवाल ने रविवार को बताया कि 2014 से 2018 के बीच राज्य के करीब 70 किसानों ने आत्महत्या की थी. हम आत्महत्या करने वाले सभी किसानों के सभी प्रकार के कर्जे माफ करने की अनुशंसा मुख्यमंत्री के पास भेजेंगे. 

उन्होंने कहा कि अगली बैठक में किसानों की कर्ज माफी के कारण पड़ने वाले आर्थिक बोझ पर चर्चा की जायेगी. कमेटी के सदस्य और राज्य के उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा ने बताया कि आत्महत्या करने वाले किसानों का कृषि का कर्जा चाहे वो बैंक हो या अन्य किसी प्रकार की राशि हो, उसे माफ करने की अनुशंसा मुख्यमंत्री के पास भेजी जायेगी. इस बारे में निर्णय मुख्यमंत्री स्तर पर लिया जायेगा. 

राज्य में कांग्रेस सरकार के गठन के दो दिन बाद सरकार ने 19 दिसम्बर को अल्प समय के लिये सहकारी बैंकों से लिये गये कृषि रिण और राष्ट्रीयकृत बैंकों से लिये गये दो लाख रूपये तक के कर्ज की माफी की घोषणा की थी. कमेटी की अगली बैठक 11 जनवरी को होगी. इससे पूर्व कमेटी की बैठक 10 जनवरी को प्रस्तावित थी लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कमेटी के अध्यक्ष शांति धारीवाल को 10 जनवरी को नई दिल्ली में आयोजित जीएसटी काउंसिल की बैठक में उपस्थित होने के लिये नियुक्त किया.

(इनपुट-भाषा)