close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में आई इतनी तेज आंधी की गिर गई मकान की छत, घर में सो रहे 3 लोग दबकर मरे

सोमवार रात को 11 बजे अचानक तेज हवा चलने के कारण रसाला रोड पृथ्वीपुरा में नैनी देवी भील के मकान के पीछे बहुमंजिला मकान की दीवार आंधी के झोंके के साथ ही भरभरा कर मकान की छत पर गिर गई.

राजस्थान में आई इतनी तेज आंधी की गिर गई मकान की छत, घर में सो रहे 3 लोग दबकर मरे
बहुमंजिला इमारत की दीवार मकान पर गिरने से हुआ हादसा.

जोधपुर: रसाला रोड ओवरब्रिज के पास पृथ्वीपुरा इलाके में तेज हवा और आंधी के झोंके के साथ ही पड़ोस में बन रहे बहुमंजिला मकान की दीवार एक मकान की छत पर गिर गई. जिससे मकान की छत ढह गई और एक ही परिवार की दो महिला सहित तीन लोगों की मौत हो गई. मृतकों में से एक महिला गर्भवती थी. हादसे के बाद एसडीआरएफ, सिविल डिफेंस, आरएसी और पुलिस मौके पर पहुंची और मौके पर रेस्क्यू शुरू किया. हादसे की सूचना पर डीसीपी धर्मेंद्र सिंह यादव, जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित सहित पुलिस प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. 

आपको बता दें, सोमवार रात को 11 बजे अचानक तेज हवा चलने के कारण रसाला रोड पृथ्वीपुरा में नैनी देवी भील के मकान के पीछे बहुमंजिला मकान की दीवार आंधी के झोंके के साथ ही भरभरा कर मकान की छत पर गिर गई. हादसे के बाद पूरे मोहल्ले में दहशत का माहौल हो गया और लोग घरों से बाहर निकल आए. इस हादसे में मकान में सो रही नैनी देवी, उसका बेटा मनीष, विनोद और बेटे की बहू कोमल मलबे में दब गए. जिसे आस पास के लोगों ने बाहर निकाल कर पुलिस की गाड़ी से अस्पताल पहुंचाया. 

हादसे की लोगों ने पुलिस को सूचना दी. प्रशासन और पुलिस ने भी त्वरित कार्रवाई करते हुए एसडीआरएफ, सिविल डिफेंस के साथ ही आरएसी, एसटीएफ को मौके पर बुलाया और कुछ लोगों के मलबे में दबे होने का अंदेशा होने पर रेस्क्यू चलाकर मलबे को हटाया. सूचना के बाद डीसीपी धंर्मेन्द्र सिंह यादव, जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित भी मौके पर पहुंचे. इधर हादसे में गंभीर घायल मकान मालिक नैनी देवी, बहु कोमल की एमजीएच में मौत हो गई. वहीं बेटे विनोद की एमडीएम अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. हादसे में घायल मनीष का गंभीर हालत में एमडीएम अस्पताल में इलाज चल रहा है.

मौके पर रेस्क्यू पूरा करने के बाद जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित, डीसीपी धर्मेंद्र सिंह यादव एमजीएच पहुंचे. यहां अधिकारियों ने घायल मनीष के इलाज के बारे में चिक्तिसकों से जानकारी ली. हालांकि हादसे के कारणों पर जिला कलेक्टर ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. शुरुआती जांच में हादसे का कारण तेज हवा आंधी के कारण पड़ोस की दीवार मकान की छत पर गिरने की बात ही सामने आ रही है. हादसे के बाद आस पास के मकानों का भी मौका मुआयना करने के बाद एहतिहात के तौर पर लोगों को मकान में नहीं रहने की हिदायत दी गई.