close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अलवर में दिखाया गया 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' का पहला शो, सिनेमा हॉल रहे फुल

रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के दौरान चल रही चुनावी सरगर्मी के बीच रिलीज हुई इस फिल्म को दर्शक काफी पसंद कर रहे हैं. 

अलवर में दिखाया गया 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' का पहला शो, सिनेमा हॉल रहे फुल
गोल्ड सिनेमा के तीन शो में करीब 80 फीसदी सीटें भरी रही.

प्रमोद कुमार, अलवर: रिलीज होने से पहले ही विवादों में आई चर्चित फिल्म 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' को कई राज्यों में बैन किया जा चुका है. वहीं, देश के कई हिस्सों में कांग्रेस के कार्यकर्ता लगातार इसका विरोध कर रहे है. लेकिन राजस्थान के अलवर जिले में शनिवार को इसके पहले शो के दौरान सिनेमा हॉल में बड़ी संख्या में दर्शक पहुंचे. 

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के यूपीए सरकार में किए गए कामकाज को लेकर बनी इस चर्चित फिल्म दी एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर अलवर के सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई है. स्थानीय फिल्म क्रॉस प्वाइंट मॉल के गोल्ड सिनेमा के मैनेजर आशीष ने बताया कि तीन शो में करीब 80 फीसदी सीटें भरी रही. 

आपको बता दें कि, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की बायोपिक का जब से ट्रेलर आया, तब से ही यह फिल्म काफी सुर्खियों में है. फिल्म डॉ. सिंह के मीडिया एडवाइजर और पत्रकार संजय बारू की किताब पर आधारित है.

इसकी कहानी 2004 में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के नेतृत्व में यूपीए को मिली जीत से शुरू होती है, जिसके बाद मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री बनते हैं. इसके बाद जर्नलिस्ट संजय बारू की एंट्री होती है और वो मनमोहन सिह के मीडिया एडवाइजर बन जाते हैं. जिसके बाद 2जी, कोयला घोटाला, 2009 के चुनाव में राहुल गांधी को पार्टी का चेहरा बनाना जैसे कई मुद्दे आते है. 

रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के दौरान चल रही चुनावी सरगर्मी के बीच रिलीज हुई इस फिल्म को जिले के लोग काफी पसंद कर रहे हैं.