close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नर्स और सर्जन की कमी से जूझ रहा है जम्मू का स्वास्थ्य विभाग, जल्द करेगा हायरिंग

एसएसी ने राज्य में छह सहायक नर्स मिडवाइफरी (एएनएम) स्कूलों और पांच जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (जीएनएम) स्कूलों के लिए 85 पदों के सृजन को भी मंजूरी दी है.

नर्स और सर्जन की कमी से जूझ रहा है जम्मू का स्वास्थ्य विभाग, जल्द करेगा हायरिंग
सांकेतिक तस्वीर

जम्मू: जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने जम्मू और श्रीनगर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में (जीएमसी) 33 पदों के सृजन को मंजूरी दी है. आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि राज्यपाल सत्य पाल मलिक की अध्यक्षता में शुक्रवार को यहां हुई राज्य प्रशासनिक परिषद (एसएसी) की बैठक में यह मंजूरी दी गई.

प्रवक्ता ने बताया कि एसएसी ने राज्य में छह सहायक नर्स मिडवाइफरी (एएनएम) स्कूलों और पांच जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (जीएनएम) स्कूलों के लिए 85 पदों के सृजन को भी मंजूरी दी है.

भारतीय जनस्वास्थ्य मानक (आईपीएचएस) के अनुसार राज्य के स्वास्थ्य क्षेत्र में नर्सों की कमी हैं. एक बेड पर 1: 5 नर्सों के राष्ट्रीय अनुपात की तुलना में राज्य में यह अनुपात 1:10 है. स्वास्थ्य विभाग को कुल 3,193 नर्सें चाहिए जबकि यहां केवल 1,290 नर्सें हैं.