एनसीपी नेता नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर लगाए गंभीर आरोप, NCB अधिकारी ने दिया जवाब
X

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर लगाए गंभीर आरोप, NCB अधिकारी ने दिया जवाब

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने दावा किया है कि एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े मुस्लिम हैं और उनका असली नाम समीर दाऊद वानखेड़े है. इस पर एनसीबी के जोनल डायरेक्टर ने जवाब दिया है.

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर लगाए गंभीर आरोप, NCB अधिकारी ने दिया जवाब

मुंबई: आर्यन खान ड्रग्स केस (Aryan Khan Drugs Case) में लगातार नए ट्विस्ट आ रहे हैं और एनसीपी नेता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर नए आरोप लगाए हैं और कहा है कि वो फर्जी कास्ट सर्टिफिकेट दिखाकर आईआरएस अधिकारी बने. इस पर समीर वानखेड़े ने जवाब दिया है और आरोपों को झूठा करार दिया है.

नवाब मलिक ने लगाए हैं ये बड़े आरोप

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने दावा किया है कि एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े मुस्लिम हैं और उनका असली नाम समीर दाऊद वानखेड़े है. नवाब मलिक ने बर्थ सर्टिफिकेट की तरह दिखने वाला एक डॉक्यूमेंट भी शेयर किया और लिखा, 'समीर दाऊद वानखेड़े का फ्रॉड यहां से शुरू हुआ.'

समीर वानखेड़े ने दिया जवाब

एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) ने नवाब मलिक के आरोपों पर जवाब दिया और प्रेस रिलीज जारी कर कहा कि यह मेरे संज्ञान में आया है कि महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक ने आज अपने ट्विटर हैंडल पर मुझसे संबंधित कुछ डॉक्यूमेंट शेयर किए और लिखा, 'समीर दाऊद वानखेड़े का फ्रॉड यहां से शुरू हुआ.'

उन्होंने आगे कहा, 'में यह कहना चाहता हूं कि मेरे पिता दयानदेव कचरूजी वानखेड़े (Dnyandev Kachruji Wankhede) 30.06.2007 को राज्य आबकारी विभाग, पुणे के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक के पद से रिटायर हुए थे. मेरे पिता एक हिंदू हैं और मेरी मां स्वर्गीय जहीदा एक मुस्लिम थीं. मैं धर्मनिरपेक्ष परिवार से ताल्लुक रखता हूं और मुझे अपनी विरासत पर गर्व है. मैंने डॉ शबाना कुरैशी 2006 में स्पेशल मैरेज एक्ट 1954 के तहत शादी की. हम दोनों ने साल 2016 में सिविल कोर्ट के माध्यम से तलाक ले लिया और साल 2017 के अंत में मैंने क्रांति दीनानाथ रेडकर से शादी की.'

समीर वानखेड़े ने कहा, 'ट्विटर पर मेरे निजी दस्तावेजों का प्रकाशन मानहानि है और मेरी पारिवारिक गोपनीयता पर अनावश्यक आक्रमण है. इसका उद्देश्य मुझे, मेरे परिवार, मेरे पिता और मेरी दिवंगत मां को बदनाम करना है. पिछले कुछ दिनों में माननीय मंत्री जी के कृत्यों ने मुझे और मेरे परिवार को मानसिक और भावनात्मक दबाव डाला है. मैं माननीय मंत्री द्वारा बिना किसी औचित्य के व्यक्तिगत, मानहानि कारक और निंदनीय हमलों की प्रकृति से आहत हूं.'

एनसीबी और समीर वानखेड़े ने दायर किया हलफनामा

ड्रग्‍स पार्टी केस (Drugs Party Case) में सोमवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) और समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede Affidavit) ने सेशन कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया. एनसीबी (NCB) के वकील अद्वैत सेठना ने कहा, 'जांच को भटकाने के लिए बहुत सारी कोशिश की जा रही है. इसके लिए कभी धमकी देकर तो कभी गवाहों को इन्फ्लुएंस करके जांच को प्रभावित किया जा रहा है.' वहीं समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) ने हलफनामे में कहा, 'मेरे परिवार को धमकाया जा रहा है और आज भी मेरे पर्सनल नाम को लेकर सोशल मीडिया पोस्ट किया गया है. मामले के गवाहों को एक्सपोज किया जा रहा है और जांच को भटकाने की कोशिश हो रही है. मैं मामले में किसी भी जांच के लिए तैयार हूं.' समीर वानखेड़े ने कोर्ट में हलफनामा दायर कर अनुरोध किया कि उन्हें धमकी देने और जांच में बाधा डालने के प्रयासों का संज्ञान लिया जाए.

लाइव टीवी

Trending news