'10 मिनट दे दो, फाड़ देंगे' आफताब की जान लेने के लिए सुबह से बैठे थे हमलावर, 10 तलवारों के साथ थी ये तैयारी
topStories1hindi1461955

'10 मिनट दे दो, फाड़ देंगे' आफताब की जान लेने के लिए सुबह से बैठे थे हमलावर, 10 तलवारों के साथ थी ये तैयारी

Shradhha Murder Case: हमलावरों ने पुलिस की गिरफ्तारी पर कहा, 'अरेस्ट होने से हमें कोई दिक्कत नहीं है. हमें अपनी बहन बेटियों को बचाना है. इसके लिए हमें कानून को हाथ में लेना पड़े तो भी हम लेंगे. सुबह से हम यहीं बैठे थे और मौके की तलाश में थे.'

'10 मिनट दे दो, फाड़ देंगे' आफताब की जान लेने के लिए सुबह से बैठे थे हमलावर, 10 तलवारों के साथ थी ये तैयारी

Attack on Aftab Poonawalla: श्रद्धा वालकर के कथित तौर पर 35 टुकड़े करने वाले आरोपी आफताब पूनावाला की वैन पर आज कुछ लोगों ने तलवार से हमला कर दिया. पुलिस ने दो हमलावरों को हिरासत में ले लिया है. शुरुआती जानकारी में बताया गया कि ये सभी हमलावर हिंदू सेना से जुड़े हैं, लेकिन हिंदू सेना ने बयान जारी कर कहा कि हमारा हमलावरों से कोई लेना-देना नहीं है. हम कानून को मानते हैं. ये हमला उस वक्त हुआ जब दिल्ली पुलिस आफताब को एफएसएल बिल्डिंग लेकर पहुंची थी. वैन के पहुंचते ही घात लगाकर बैठे हमलावरों ने अपनी कार को पुलिस वैन को ओवरटेक करके उसके सामने खड़ी कर दी.

इसके बाद उन्होंने तलवार निकाला और वैन में मौजूद पुलिस अधिकारियों पर तान दिया. जवाब में पुलिस अधिकारी ने भी पिस्तौल निकाली और हवाई फायरिंग करने के पोजिशन में आ गए. इसके बाद भी हमलावर पीछे नहीं और पुलिस अधिकारी को तलवार से डराते रहे.

इससे पहले कि ड्राइवर वैन को वहां से आगे ले जाता, हमलावरों ने वैन के पिछले दरवाजे को खोल दिया. इसी वैन में आफताब मैजूद था. हमलावरों ने दरवाजा खोल उसे मारने के लिए आगे बढ़े, तभी वैन के अंदर आफताब के साथ मौजूद पुलिसकर्मी ने हमलावरों पर बंदूक तान दी. इस वजह से हमलावर पीछे हट गए. इसके बाद पुलिस वैन का दरवाजा बंद किया गया और वैन को आगे ले जाया गया. इस दौरान भी हमलावर वैन पर तलवार से हमला करते रहे.

हम उसके 70 टुकड़े करेंगे

जी न्यूज से बात करते हुए हमलावरों ने पुलिस की गिरफ्तारी पर कहा, 'अरेस्ट होने से हमें कोई दिक्कत नहीं है. हमें अपनी बहन बेटियों को बचाना है. इसके लिए हमें कानून को हाथ में लेना पड़े तो भी हम लेंगे. सुबह से हम यहीं बैठे थे और मौके की तलाश में थे.'

एक हमलावर ने कहा, 'हम एक बार रात को 11 बजे भी आए थे लेकिन आफताब नहीं मिला. बहुत दिन से आफताब को खोज रहे थे. आज भी सुबह 8 बजे से यहां बैठे थे. उसे फाड़ देंगे हम, 10 मिनट रोक कर तो देखें. अगर आपकी किसी ने हत्या कर दी तो क्या आपका भाई बदला नहीं लेगा.' 

एक दूसरे हमलावर ने कहा कि हम 15 लोग हैं जो यहां आफताब का इंतजार कर रहे थे. उसने हमारी बहन के 35 टुकड़े किए और अब हम उसके 70 टुकड़े करेंगे. हमलावर यहां एक कार में पहुंचे थे, जिसमें करीब 10 तलवारें रखी थीं. इसके अलावा उसमें हथौड़ा भी रखा था. 

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi, अब किसी और की जरूरत नहीं

Trending news