निकिता के पिता का छलका दर्द, बोले- ‘लव जेहाद के खिलाफ कानून होता तो जिंदा होती बेटी’

बल्लभगढ़ में लव जेहाद की शिकार हुई बेटी निकिता तोमर के पिता ने कहा है, अगर इस तरह का कानून पहले से होता तो निकिता आज जिंदा होती.

निकिता के पिता का छलका दर्द, बोले- ‘लव जेहाद के खिलाफ कानून होता तो जिंदा होती बेटी’
फाइल फोटो.
Play

फरीदाबाद: फरीदाबाद से सटे बल्लभगढ़ में लव जेहाद (Ballabhgarh Love Jihad) का शिकार हुई हरियाणा की बेटी निकिता (Nikita murder case) की चिता भले ही ठंडी पड़ गई हो लेकिन बेटी को खोने का गम परिजनों को दिन-रात सता रहा है. धर्म परिवर्तन के दबाव और लव जेहाद (Love Jihad) की कुत्सित मानसिकता की शिकार हुई बेटी के पिता का एक बार फिर दर्द छलका है. इसके साथ ही परिवार ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर (Haryana CM Manohar Lal Khattar) द्वारा दिये लव जेहाद के खिलाफ कानून बनाये जाने के बयान से भविष्य में किसी और बेटी के साथ ऐसा न होने की उम्मीद जताई है.

यह भी पढ़ें: निकिता की जिंदगी में नासूर बन चुका था तौसीफ, पढ़ें Ground Report

सीएम खट्टर ने दिया था बयान
बता दें, बीते दिन हरियाणा के गृहमंत्री अनिल और मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर ने लव जेहाद के खिलाफ कानून बनाये जाने की तैयारी के बाबत बयान दिया था. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने लव जेहाद के खिलाफ कानून के विचार पर बोलते हुए कहा, हम इस मामले को बेहद गंभीरता से ले रहे हैं. केंद्र और राज्य स्तर पर विचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा, सरकार की कोशिश रहेगी की इस प्रकार की घटनाएं दोबारा न हों.

पिता का छलका दर्द
सीएम खट्टर के बयान के बाद निकिता तोमर के पिता ने कहा है, ‘अगर इस तरह का कानून पहले से होता तो निकिता आज जिंदा होती. अगर आगे इस तरह का कानून आयेगा तो भविष्य में अन्य निकिता बच सकेंगी.’

बता दें छात्रा निकिता के पिता ने ही सबसे पहले लव जेहाद का खुलासा किया था. उन्होंने बताया था आरोपी की मां भी पिछले दो साल से बेटी पर धर्म परिवर्तन का दबाव डाल रही थी और वह कई दफा उनकी बेटी को फोन करके उसे धर्म परिवर्तन के लिए कहती थी, जिससे निकिता काफी परेशान होती थी. निकिता के मानसिक स्वास्थ्य पर भी बीते कई दिनों से बुरा असर पड़ रहा था. निकिता टूटी नहीं लेकिन मजहबी कट्टरवाद की भेट चढ़ गई. अब निकिता के परिजनों सहित तमाम लोग लव जेहाद के खिलाफ कानून की मांग कर रहे हैं.

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.