Bihar विधान सभा: Congress MLA शकील अहमद खान ने संस्कृत भाषा में ली शपथ

बिहार विधान सभा (Bihar Assembly) से बाहर निकलने के बाद शकील अहमद खान (Shakeel Ahmad Khan) ने कहा, 'संस्कृत (Sanskrit) हिंदुस्तान (Hindustan) की रूह की जुबान है. यह सभ्यता और संस्कृति की भाषा रही है. यह अलग बात है कि समय गुजरने के बाद, आम लोगों की भाषा नहीं बन सकी.'

Bihar विधान सभा: Congress MLA शकील अहमद खान ने संस्कृत भाषा में ली शपथ
विधायक शकील अहमद खान | फोटो साभार: ट्विटर

पटना: बिहार विधान सभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Election 2020) के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की सरकार बन गई. नवगठित विधान सभा के पहले सत्र के पहले दिन सोमवार को नवनिर्वाचित विधायकों ने शपथ ग्रहण किया, इस दौरान जमकर राजनीति भी देखने को मिली.

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) पार्टी के विधायक (MLA) अख्तरुल ईमान (Akhtarul Iman) ने जहां देश के नाम हिंदुस्तान (Hindustan) पर आपत्ति जताई, वहीं कटिहार के कदवा क्षेत्र से विधायक शकील अहमद खान (Shakeel Ahmad Khan) ने संस्कृत (Sanskrit) भाषा में शपथ ग्रहण (Oath Taking) कर सौहार्द की मिसाल पेश की.

कांग्रेस (Congress) विधायक शकील अहमद खान (Shakeel Ahmad Khan) जब संस्कृत (Sanskrit) में शपथ ग्रहण कर रहे थे, तब बिहार विधान सभा (Bihar Assembly) के कई सदस्यों ने मेज थपथपाकर उनकी तारीफ की.

VIDEO

ये भी पढ़ें- कोरोना के खिलाफ आज बनेगी रणनीति, पीएम नरेंद्र मोदी राज्यों के साथ करेंगे महामंथन

बिहार विधान सभा (Bihar Assembly) से बाहर निकलने के बाद शकील अहमद खान (Shakeel Ahmad Khan) ने कहा, 'उर्दू (Urdu) उनकी भाषा है. इसे आगे बढ़ाने के लिए बिहार विधान सभा (Bihar Assembly) के बाहर और अंदर मैं अपनी आवाज उठाता रहा हूं. संस्कृत (Sanskrit) हिंदुस्तान (Hindustan) की रूह की जुबान है. यह सभ्यता और संस्कृति की भाषा रही है. यह अलग बात है कि समय गुजरने के बाद, आम लोगों की भाषा नहीं बन सकी.'

उन्होंने कहा, 'संस्कृत (Sanskrit) मुझे शुरुआत से ही अच्छी लगती है. सभी भाषाएं सही हैं. किसी भाषा से भेदभाव नहीं हो, किसी पर भाषा भी नहीं थोपी जाए, यह भी सरकार की पॉलिसी होनी चाहिए.'

ये भी पढ़ें- Exclusive: जानिए क्या है Delhi Riots से बंगाली बोलने वाली 300 महिलाओं का कनेक्शन

शकील अहमद खान (Shakeel Ahmad Khan) ने कहा कि, 'आज बिहार सरकार (Bihar Government) भाषा को लेकर क्या कर रही है. आज स्कूलों में मातृभाषा को लेकर शिक्षक तक नहीं हैं.'

उन्होंने आगे कहा कि भारत विविधताओं का देश है और यहां सभी जुबान है बोली जाती हैं.

विधायक (MLA) शकील अहमद खान (Shakeel Ahmad Khan) ने AIMIM के विधायक अख्तरुल ईमान को भी नसीहत देते हुए कहा कि वो पहले भी विधान सभा के सदस्य रह चुके हैं. पहली बार जब उन्होंने विधान सभा में शपथ ली थी, तब क्या उन्होंने हिंदुस्तान शब्द पर ऐतराज जताया था, उन्हें याद करना चाहिए.

इसी दौरान असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी AIMIM के विधायक अख्तरुल ईमान (Akhtarul Iman) ने शपथ लेते वक्त उसमें देश के नाम के लिए लिखे हिंदुस्तान शब्द के स्थान पर भारत कहने की इजाजत मांगी. ईमान ने उर्दू में शपथ लेने की अनुमति मांगी थी.

अख्तरुल ईमान (Akhtarul Iman) ने कहा कि संविधान में देश का नाम भारत लिखा हुआ है. बाद में उन्होंने उर्दू भाषा में शपथ लेते हुए देश का नाम भारत पढ़ा. इसे लेकर सत्ता पक्ष के विधायक नाराज भी हैं.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.