गुजरात: रामायण-महाभारत से लेकर शिव तांडव तक, इस चार साल के बच्चे को जुवानी याद हैं ये ग्रंथ

चार साल का माधवन जब शिव तांडव, हनुमान चालीसा के साथ-साथ संस्कृत के श्लोक बोलता है तो उसे देख लोग आश्चर्य चकित रह जाते हैं.

गुजरात: रामायण-महाभारत से लेकर शिव तांडव तक, इस चार साल के बच्चे को जुवानी याद हैं ये ग्रंथ
माधवन ठाकोर.

बनासकांठा: गुजरात (Gujarat) के बनासकांठा (Banaskantha) के पालनपुर में रहने वाले चार साल के  माधवन को हनुमान चालीसा, शिवतांडव, रामायण-महाभारत के श्लोकों के अलावा संस्कृत के कई श्लोक जुबानी याद हैं. खेल खेलने की उम्र में माधवन ने हिंदी और संस्कृति के पाठों का अध्ययन शुरू कर दिया है. 

चार साल का माधवन जब शिव तांडव, हनुमान चालीसा के साथ-साथ संस्कृत के श्लोक बोलता है तो उसे देख लोग आश्चर्य चकित रह जाते हैं. पालनपुर के नगरपालिका क्षेत्र में स्थित राम निवास में रहने वाले  सलोनीबेन और विपुल भाई ठाकोर का बेटा माधवन एलकेजी में पढ़ता है. माधवन को धार्मिक ग्रंथो समेत साहित्य में भी काफी रूचि है. 

विपुल भाई ने कहा कि इस उम्र में अधिकांश बच्चे अपने माता-पिता के मोबाइल पर गेम खेलते हैं, लेकिन माधवन अलग-अलग साहित्य के वीडियोज देखता है. यही कारण है कि चार साल की उम्र में वह रामायण-महाभारत की अधिकांश कहानियों का वर्णन बिना देखे जुबानी करता है. 

उन्होंने कहा कि जब वह महाभारत के श्लोक अभिनय के साथ पेश करता है तो ऐसा लगता है जैसे किसी बच्चे के नहीं बल्कि बुजुर्ग के बगल में बैठे हैं. माधवन की हर कोई तारीफ कर रहा है.  

(इनपुट- अल्केश राव, बनासकांठा)

लाइव टीवी देखें