close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अनुच्छेद 370 और 35A जब से अस्तित्व में आए तब से हमने इनका विरोध किया है: अमित शाह

अमित शाह ने कहा, 'एक देश में दो विधान, दो निशान और 2 प्रधान नहीं चलेंगे ये जनसंघ से लेकर आजतक का हमारा नारा रहा है.' 

अनुच्छेद 370 और 35A जब से अस्तित्व में आए तब से हमने इनका विरोध किया है: अमित शाह
केंद्रीय गृहमंत्री

मुंबई: मुंबई (mumbai) में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि आर्टिकल 370 (Article 370) भारत और जम्मू कश्मीर ( Jammu and Kashmir) के जुड़ाव में बाधा थी साथ ही यह देश की एकता में भी बाधक थी. अमित शाह ने कहा कि हम अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाने के लिए समर्पित कार्यकर्ता रहे हैं. जब से अनुच्छेद 370 और 35ए अस्तित्व में आई तब से जनसंघ और बीजेपी (BJP) ने इसका विरोध किया है. 

आर्टिकल 370 और जम्मू कश्मीर पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि आर्टिकल 370 ही वही कारण था जिसकी वजह से हर भारतीय को यह कहना पड़ता था कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. जबकि किसी भी और राज्य के लिए हमें ऐसा नहीं कहना पड़ता था. 

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस आर्टिकल 370 को वोट बैंक पॉलिटिक्स के तौर पर देखती थी जबकि इसे हटाना हमारे लिए देशभक्ति मुद्दा था. यही फर्क है बीजेपी और कांग्रेस में.   अमित शाह ने कहा, 'एक देश में दो विधान, दो निशान और 2 प्रधान नहीं चलेंगे ये जनसंघ से लेकर आजतक का हमारा नारा रहा है.' 

अमित शाह ने कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर का मुद्दा कभी पैदा ही नहीं होता अगर जवाहरलाल नेहरू ने 1947 में उस वक्त सीजफायर का ऐलान नहीं किया होता जब जम्मू कश्मीर में हमारी सेना पाकिस्तानी घुसपैठियों से लड़ रही थी. 

अमित शाह ने कहा कि यह हर बीजेपी कार्यकर्ता के लिए यह खुशी का विषय है की महाराष्ट्र चुनाव का श्रीगणेश धारा 370 जागरूकता कार्यक्रम के साथ हो रहा है. गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने शनिवार को हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की घोषणा कर दी है. दोनों राज्यों में 21 अक्टूबर को चुनाव होंगे और 24 अक्टूबर को वोटों की गिनती होगी.