महाराष्ट्र: कांग्रेस नेता के बेटे ने थामा BJP का हाथ, उद्धव ने साधा पवार पर निशाना

उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल के बेटे सुजय के बीजेपी में शामिल होने को लेकर शरद पवार पर निशाना साधा है.

महाराष्ट्र: कांग्रेस नेता के बेटे ने थामा BJP का हाथ, उद्धव ने साधा पवार पर निशाना

मुंबई: महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल के बेटे सुजय के बीजेपी में शामिल होने को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) अध्यक्ष शरद पवार पर निशाना साधते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बुधवार को कहा कि वह दूसरे के बच्चों की मांगों को भी पूरा करने में विश्वास रखते हैं और उनका इस्तेमाल ‘बर्तन साफ करवाने’ में नहीं करते. 

कांग्रेस के लिए बड़े झटके के तौर पर विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल के बेटे सुजय ने मंगलवार को बीजेपी का दामन थाम लिया था क्योंकि उन्हें अपना पहला लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए अपने गृह क्षेत्र अहमद नगर से टिकट नहीं मिल सका था. 

सुजय ने की थी ठाकरे से मुलाकात
सुजय ने ठाकरे से बुधवार को यहां उनके आवास पर मुलाकात की और अपनी उम्मीदवारी के लिए शिवसेना के समर्थन की मांग की.  अहमदनगर सीट कांग्रेस की गठबंधन सहयोगी एनसीपी के खाते में चली गई है और वह सुजय के लिए अहमदनगर सीट खाली करने को तैयार नहीं थी.

ठाकरे ने कहा, ‘अपने बेटे की तरह, मैं दूसरों के बच्चों की भी देखभाल करता हूं. यह शिवसेना की शैली नहीं है कि दूसरे के बच्चों का इस्तेमाल बर्तन साफ कराने के लिये करे. शिवसेना आम आदमी के लिये है.'

ठाकरे ने कहा कि शिवसेना ने अपनी सूची को लगभग अंतिम रूप दे दिया है जिसे अगले दो दिनों में जारी कर दिया जाएगा.

पवार ने साधा था विखे पाटिल पर निशाना 
पवार ने कल सुजय के लिये अहमदनगर सीट न छोड़ने के फैसले को न्यायोचित ठहराया था. पवार ने राधाकृष्ण विखे पाटिल पर निशाना साधते हुए कल कहा था, 'सुजय विखे पाटिल एक पार्टी से दूसरी पार्टी में जा रहे हैं और चुनाव लड़ने के लिए एक खास सीट पर जोर दे रहे हैं. उनकी अपरिपक्व इच्छा को पूरा करना दूसरे दलों की जिम्मेदारी नहीं है. अपने बेटे की इच्छाओं को आपको खुद पूरा करना चाहिए,मैं अपने बच्चे की इच्छाओं को पूरा करूंगा. मुझे किसी दूसरे की इच्छा क्यों पूरी करनी चाहिए?'

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.