close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: प्रशासन ने भेजा पंचायत पुनर्गठन का प्रस्ताव, मंजूरी पर बनेगी नई पंचायत समिति

जिले में पंचायतों के चुनाव अगले वर्ष के प्रारंभ में होने हैं. राज्य सरकार ने इस बार नए परिसीमन से पंचायत चुनाव कराने का निर्णय किया है. 

जयपुर: प्रशासन ने भेजा पंचायत पुनर्गठन का प्रस्ताव, मंजूरी पर बनेगी नई पंचायत समिति

जयपुर: राज्य सरकार ने जिला प्रशासन की ओर से भेजे गए पंचायत पुनर्गठन प्रस्ताव को मंजूरी दी तो जयपुर जिले में 63 ग्राम पंचायत और एक नई पंचायत समिति जोबनेर बन सकेंगी. पंचायत पुनर्गठन को लेकर एक माह तक चले आपत्तियों के दौर के बाद सुनवाई में पंचायत समिति और ग्राम पंचायतों की 517 में से सिर्फ 123 आपत्तियां स्वीकार की गई हैं. 

जिला प्रशासन ने नवसृजितक 63 ग्राम पंचायतों और 1 पंचायत समिति का प्रस्ताव तैयार राज्य सरकार को भिजवा दिया है. अभी जिले में 532 ग्राम पंचायत और 15 पंचायत समितियां हैं. जिले में नगर निकाय चुनाव के लिए परिसीमन का कार्य पूरा होने के साथ ही अब नजरें पंचायतों और पंचायत समितियों के पुनर्गठन पर टिक गई हैं. 

जिले में पंचायतों के चुनाव अगले वर्ष के प्रारंभ में होने हैं. राज्य सरकार ने इस बार नए परिसीमन से पंचायत चुनाव कराने का निर्णय किया है. इसी के तहत जिले में पंचायतों और पंचायत समितियों का नए सिरे से परिसीमन किया गया है. जिला प्रशासन की ओर से तैयार किए गए प्रस्ताव में जिले में 63 नई ग्राम पंचायत और एक नई पंचायत समिति बनाने का प्रस्ताव है. 

वहीं 148 ग्राम पंचायतों और 6 पंचायत समितियों के पुनर्गठन का प्रस्ताव है. जिले में सबसे ज्यादा नई ग्राम पंचायत जमवारामगढ में 22 पंचायत समिति में बढ़ने की उम्मीद है. प्रस्ताव में जालसू में 12, आमेर में 5, शाहपुरा में 11, पावटा में 3, कोटपूतली में 17, झोटवाड़ा में 5, सांगानेर में 4, गोविंदगढ में 12, फागी और चाकसू में 13, सांभरलेक में 10, दूदू में 1 और बस्सी में 20 ग्राम पंचायत बढ़ने के आसार हैं. 

जमवारामगढ में नई ग्राम पंचायत बनने का प्रस्ताव नहीं है. राज्य सरकार ने जयपुर जिले के लिए तैयार पंचायत पुनर्गठन के प्रस्तावों को मंजूरी दी तो जिले में ग्राम पंचायतों की संख्या बढ़कर 595 पहुंच जाएगी. इनमें 532 ग्राम पंचायत पुरानी और 63 ग्राम पंचायत नई शामिल होंगी. इसी प्रकार पंचायत समितियों की संख्या 15 से बढ़कर 16 पहुंच जाएगी. इनमें 15 पंचायत समितियां पुरानी और एक पंचायत समितियां नई होंगी. नई प्रस्तावित पंचायत समिति में जोबनेर शामिल हैं. 

--सतेंद्र यादव, न्यूज डेस्क