close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मोबाइल पर बात करते समय एयरपोर्ट पर पुल से गिरा, हुई मौत

सोमवार की सुबह चेन्नई हवाई अड्डे पर मोबाइल पर बात कर रहे एक व्यक्ति की पुल से गिरकर मौत हो गई.

मोबाइल पर बात करते समय एयरपोर्ट पर पुल से गिरा, हुई मौत
चैतन्य वयुरू के मौत की जांच कर रही है पुलिस. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चेन्नईः सड़क पर चलते हुए मोबाइल पर बात करना या गाड़ी चलाते समय मोबाइल पर बात करना खतरनाक है. इससे गंभीर हादसे हो सकते हैं. सरकार ने कई बार इन आशंकाओं के मद्देनजर एडवाइजरी भी जारी किए हैं. बावजूद इसके ये घटनाएं रुक नहीं रही हैं. ताजा मामला चेन्नई का है, जहां सोमवार की सुबह एयरपोर्ट पर मोबाइल पर बात कर रहे एक व्यक्ति की पुल से गिरकर मौत हो गई. 
चेन्नई हवाई अड्डे पर आज अहले सुबह घरेलू टर्मिनल चार के गेट के पास हुई इस घटना में मारे गए व्यक्ति की पहचान हो गई है. पुलिस के अनुसार उसका नाम चैतन्य वयुरू है. 29 साल का वयुरू आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा का रहने वाला था. पुलिस के अनुसार वह घरेलू विमान से उड़ान भरने के लिए एयरपोर्ट आया था. शुरुआती जांच में पता चला है कि पुल के ऊपर खड़े वयुरू का पैर फिसल गया. जिसके कारण नीचे गिरने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई. हालांकि, पुलिस ने यह भी कहा कि सीसीटीवी फुटेज में वयुरू मोबाइल पर बात करते समय पुल की दीवाल पर बैठने की कोशिश करते हुए दिख रहा था. इसी दौरान गिरने के कारण उसकी मौत हो गई. पुलिस घटना के कारणों की तलाश में जुट गई है. पुलिस के स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि घटना की जांच इस पहलू से भी की जा रही है कि कहीं ये आत्महत्या का केस तो नहीं है.

सड़क पर मोबाइल का इस्तेमाल जानलेवा
सड़क पर चलते हुए मोबाइल पर बात करना या वाहन चलाते समय मोबाइल पर व्यस्त रहने का ट्रेंड खतरनाक होता जा रहा है. सरकार की एक रिपोर्ट कहती है कि वर्ष 2016 में मोबाइल पर बात करते हुए गाड़ी चलाने के दौरान 4 हजार 976 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी. इसमें दोपहिया वाहन सवारों की संख्या ज्यादा है. इसी रिपोर्ट में कहा गया है कि 2138 दोपहिया वाहन चालक मोबाइल पर बात करते हुए गाड़ी चलाने के कारण अपनी जान गंवा बैठे. मोबाइल के साथ हुए ये हादसे सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में हुए. इसके बाद हरियाणा और फिर महाराष्ट्र का नाम आता है. 

हादसों से सालाना 20 अरब डॉलर का नुकसान
इंटरनेशनल रोड फेडरेशन के मुताबिक भारत में सड़क हादसों के कारण सालाना करीब 20 अरब डॉलर का नुकसान होता है. फेडरेशन का कहना है कि भारत में 12 करोड़ से ज्यादा वाहन हैं. इनके चलने के लिए पर्याप्त सड़कें होना जरूरी है. साथ ही लोगों का सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक रहना भी आवश्यक है. फेडरेशन की चौंकाने वाली रिपोर्ट कहती है कि अगर इसी रफ्तार से सड़क हादसे होते रहे तो वर्ष 2020 तक करीब 3 लाख हादसे हर साल होंगे. यह आंकड़ा चिंताजनक है.

(इनपुट - भाषा)