close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा मोबाइल स्नैचिंग करने वाला गिरोह, इस मामले में खास था यह गैंग

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के लिए स्ट्रीट क्राइम (street crime) को रोकना किसी चुनौती से कम नहीं है. स्नैचर (snatcher) दिल्ली पुलिस के लिए सिर दर्द बने हुए हैं.

दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा मोबाइल स्नैचिंग करने वाला गिरोह, इस मामले में खास था यह गैंग
इस गैंग (gang) के सदस्य सिर्फ मोबाइल फोन (Mobile Phone) ही स्नैच करते थे

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के लिए स्ट्रीट क्राइम (street crime) को रोकना किसी चुनौती से कम नहीं है. स्नैचर (snatcher) दिल्ली पुलिस के लिए सिर दर्द बने हुए हैं. इस दौरान इस मामले में आंशिक सफलता हासिल करते हुए दिल्ली (Delhi) के गीता कॉलोनी (Geeta Colony) इलाके में दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे ही स्नैचर गैंग (snatcher gang) को गिरफ्तार किया है. पुलिस (Police) के मुताबिक इस गैंग (gang) के सदस्य सिर्फ मोबाइल फोन (Mobile Phone) ही स्नैच करते थे.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के मुताबिक गैंग (gang) के सदस्य वारदात (crime) को अंजाम के लिए जिस टू-व्हीलर (two-wheeler) का इस्तेमाल किया करते थे वह भी चोरी की हुआ करती थी. वारदात में ये लोग कभी स्कूटी (scooty) तो कभी बाइक (bike) का इस्तेमाल किया करते थे. सबसे बड़ी बात यह थी कि स्नैचर (snatcher) छीने गए मोबाइल फोन (Mobile Phone) को बेकरी में काम करने वाले मजदूरों को बेचता था. ताकि कभी कोई परेशानी आने पर ना तो उन मजदूरों के पकड़ में आए न ही पुलिस (Police) इन तक पहुंच पाए.

देखें लाइव टीवी

इस गैंग (gang) के तीन लोगों को पुलिस (Police) ने अरेस्ट (arrest) किया है. पकड़े गए बदमाशों के नाम सुहैल, फिरोज और उस्मान हैं. जिसमें से सुहैल ओर फिरोज मोबाइल स्नैचिंग (Mobile snatching) का काम किया करते थे और उस्मान रिसीवर का काम करता था. उस्मान ही स्नैच किए गए मोबाइल (mobile) को बेकरी में काम करने वालों को बेच दिया करता था. पुलिस के मुताबिक इनके पास से 10 मोबाइल फोन और एक स्कूटी (scooty) और एक बाइक (bike) भी बरामद हुई है.