close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गो एयर के कर्मचारी ने की खुदकुशी, परिवारवालों का दावा-कंपनी डाल रही थी दबाव

मंथन गो एयर कंपनी में काम करता था. वहीं परिवार वालों का दावा है कि उसने कंपनी के दबाव में खुदकुशी की है. पुलिस के अनुसार, मंथन चव्हाण ने 12वीं के बाद एविशन की पढ़ाई की थी.

गो एयर के कर्मचारी ने की खुदकुशी, परिवारवालों का दावा-कंपनी डाल रही थी दबाव
मंथन गो एयर कंपनी में काम करता था. फोटो: जी न्‍यूज

नागपुर: महाराष्‍ट्र के नागपुर में चंद्रमणी नगर इलाके में रहने वाले एक नवयुवक ने खुदकुशी कर ली. वह गो एयर कंपनी में काम करता था. वहीं परिवार वालों का दावा है कि उसने कंपनी के दबाव में खुदकुशी की है. पुलिस के अनुसार, मंथन चव्हाण ने 12वीं के बाद एविशन की पढ़ाई की थी.

नागपुर में 2 साल का एविशन कोर्स कर रहा था. उसी समय उसे 'गो एयर' कंपनी में ग्राउंड स्टाफ पद पर नौकरी मिली थी. पिछले 9 महिने से वह गो एयर में काम कर रहा था. इसी बीच वह बीमार हो गया. इस कारण वह छुट्टी पर चला गया. वह करीब 15 दिन से बीमार था. मेडिकल रिपोर्ट सें उसे पीलिया होने की बात पता चली. उसे कुछ दिन और छुट्टी की जरूरत थी. लेकिन परिवार का आरोप है की कंपनी उस पर लगातार काम पर लौटने का दबाव बना रही थी.

कंपनी की ओर से लगातार कहा जा रहा था कि अगर आप नौकरी पर नहीं लौट सकते तो जॉब छोड़ दो. गुरुवार दोपहर मंथन अपने घर के बेडरुम में गया और खिड़की की लोहे की छड़ से लटक कर कर खुदकुशी कर ली. मंथन की लिखी एक चिठ्ठी पुलिस को मिली है. जिसमें हैप्पी बर्थडे मम्मी लिखा था. उसके मां का जन्म दिन भी था. नागपुर पुलि‍स ने आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज किया है. जांच जारी है.

मृतक मंथन की मौसी सरिता पाटील ने बताया कि, पिछले कुछ दिनों से मंथन बीमार था. उसे पीलिया होने था. उसे कुछ और दिन छुट्टी चाहिए थी. लेकिन गो एयर के अधिकारियों ने उसे काम पर लौटने को कहा. उसे बार-बार फोन आते थे. मैं मंथन से मिलने वाली थी और जॉब छोड़ने की सलाह देने वाली थी, लेकिन उससे पहले ही उसने सुसाईड कर लिया. पुलिस उप निरीक्षक कैलास मगर का कहना है कि, मंथन के पिता की शिकायत पर हमने आकस्मिक मृत्यू का मामला दर्ज किया है. मंथन के मोबाइल सिडीआर रिकॉर्ड खंगाले जा रहे है.