close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान उपचुनाव: वोटिंग की तारीख से पहले खींवसर सीट पर दिग्गजों ने झोंकी ताकत

इस मौके पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि हरेंद्र मिर्धा एक सरल राजनेता हैं और अपनी जुबान के पक्के हैं.

राजस्थान उपचुनाव: वोटिंग की तारीख से पहले खींवसर सीट पर दिग्गजों ने झोंकी ताकत

 डीडवाना: जैसे जैसे मतदान की तारीख नजर आ रही है. वैसे वैसे ही खींवसर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा रालोपा गठबंधन और कांग्रेस के नेताओं ने अपनी पूरी ताकत चुनावी रैलियों और जनसंपर्क में झोंक दी है. दोनों उम्मीदवारों की तरफ से अब छोटी छोटी ढाणियों में भी जनसंपर्क कर मतदान की अपील की जा रही है.

सूबे के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी, पूर्व मंत्री राजेन्द्र गुढा, दुर्ग सिंह खींवसर, राजपूत नेता हनुमान सिंह खांगटा के साथ खींवसर विधानसभा क्षेत्र के सेनणी, रूण, जेतमालों की ढाणियों सहित आधा दर्जन से ज्यादा स्थानों पर जनसंपर्क किया. जनसंपर्क अभियान के दौरान छोटी छोटी ढाणियों में भी जनसंपर्क कर कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने की अपील की.

इस मौके पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि हरेंद्र मिर्धा एक सरल राजनेता हैं और अपनी जुबान के पक्के हैं. उन्होंने अपने पिछले कार्यकाल में जितना विकास केवल खींवसर ही नहीं बल्कि पूरे नागौर में कराया उतना उसके बाद कभी नहीं हो सका. 15 साल तक हनुमान बेनीवाल और उसकी पार्टी ने खींवसर में केवल लोगों को लड़ाने का काम किया और केवल विरोध की राजनीति करते हुए लोगों को विकास भुला कर केवल झगड़ो में उलझाए रखा. 

चुनाव प्रचार बन्द होने से पहले नेता चाह रहे हैं कि वो हर तबके तक और हर वोटर तक अपनी पहुंच बना लें लेकिन नेताओं की इस भाग दौड़ का नतीजा क्या होगा यह आने वाली 24 अक्टूबर ही बताएगी. आपको बता दें कि प्रदेश में मंडावा और खींवसर सीट पर उपचुनाव हो रहे हैं. दोनों ही पार्टियों ने इस उपचुनाव को नाक की लड़ाई मानकर पूरी ताकत झोंक दी है. ऐसे में दोनों ही सीटों पर मुकाबला बेहद दिलचस्प लग रहा है.