close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'गोवा में बहुमत वाला गैर-भाजपा गठबंधन संभव': सुदिन धावलीकर

धावलीकर ने कहा, "बिल्कुल, ऐसा हो सकता है लेकिन हमें उनका समर्थन करना चाहिए या नहीं, यह एमजीपी की केंद्रीय समिति को तय करना है."

'गोवा में बहुमत वाला गैर-भाजपा गठबंधन संभव': सुदिन धावलीकर
सुदीन धावलीकर ने कहा गोवा में बहुमत वाला गैर-भाजपा गठबंधन बनना संभव है

पणजीः गोवा के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुदिन धावलीकर का कहना है कि राज्य में कांग्रेस का महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के साथ मिलकर बहुमत वाला गैर-भाजपा गठबंधन बनना संभव है, लेकिन इस फैसले का अनुमोदन एमजीपी की केंद्रीय समिति को करना है.

धावलीकर अब एमजीपी के अकेले सदस्य हैं, जो विधानसभा सदस्य भी हैं. पार्टी के दो विधायक कुछ ही महीने पहले भाजपा में शामिल हो गए हैं. उनका भी कहना है कि राजनीति में कुछ भी 'उचित या अनुचित' नहीं होता.

यह पूछे जाने पर कि क्या इसकी संभावना है कि कांग्रेस, एमजीपी और अन्य गैर-भाजपा पार्टियां मिलकर विधानसभा में बहुमत वाला गठबंधन बना लें, धावलीकर ने कहा, "बिल्कुल, ऐसा हो सकता है लेकिन हमें उनका समर्थन करना चाहिए या नहीं, यह एमजीपी की केंद्रीय समिति को तय करना है."

चार विधानसभा उपचुनावों के परिणाम 23 मई को घोषित होने के बाद 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में भाजपा के पास अब 17 विधायक हैं. सत्ताधारी गठबंधन को फिलहाल गोवा फॉरवार्ड पार्टी और तीन निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त है.

भगवा पार्टी ने मार्च में एमजीपी में फूट डाला और उपमुख्यमंत्री धावलीकर को मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के कैबिनेट से हटाया था. इसके बाद एमजीपी ने भाजपा के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार से समर्थन वापस लेने की घोषणा सार्वजनिक रूप से की थी. इसके बावजूद पार्टी ने गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा के पास जमा अपना समर्थन-पत्र अभी तक वापस नहीं लिया है. एमजीपी ने तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद सरकार गठन के समय राज्यपाल को समर्थन-पत्र सौंपा था.

धावलीकर का यह बयान तब आया है, जब नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायक अटानासियो मोनसेरेट ने 23 मई को घोषणा की कि कांग्रेस का लक्ष्य राज्य में गैर-भाजपा गठबंधन की नई सरकार बनाना है.

कांग्रेस के पास इस समय 15 विधायक हैं और स्पष्ट बहुमत के लिए उसे गोवा फॉरवार्ड पार्टी व कम से कम तीन और विधायकों के समर्थन की जरूरत है.

गोवा विधानसभा में इस समय भाजपा के अलावा कांग्रेस, गोवा फॉरवार्ड पार्टी और तीन निर्दलीय विधायकों के अलावा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) का एक विधायक और धावलीकर स्वयं हैं.