Zee Rozgar Samachar

रिया की याचिका पर महाराष्ट्र सरकार का SC में जवाब, CBI जांच का किया विरोध

महाराष्ट्र सरकार ने बिहार सरकार पर आरोप लगाते हुए सुशांत सिंह राजपूत की मौत के 38 दिन बाद उनके पिता ने पटना में एफआईआर दर्ज करवाई है जबकि मौत की जगह और इस घटना से जुड़े सभी लोग, तथ्य व सबूत मुंबई से संबंधित हैं. 

रिया की याचिका पर महाराष्ट्र सरकार का SC में जवाब, CBI जांच का किया विरोध

नई दिल्ली: सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के मामले में रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की याचिका पर महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में जवाब दाखिल किया. महाराष्ट्र सरकार ने सीबीआई (CBI) जांच का विरोध किया और कहा कि मुंबई पुलिस ने 56 लोगों से पूछताछ कर उनके बयान दर्ज किए हैं. महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि बिहार पुलिस के आईपीएस अधिकारी को क्वारंटीन इसलिए करना पड़ा क्योंकि सरकारी गाइडलाइन है कि एयरपोर्ट पर दूसरे राज्य से आने वाले लोगों को कम से कम सात दिन के लिए क्वारंटीन करना अनिवार्य है अन्यथा यह सरकारी नियमों और आपदा कानून का उल्लंघन होगा.

महाराष्ट्र सरकार ने बिहार सरकार पर लगाए आरोप
महाराष्ट्र सरकार ने बिहार सरकार पर आरोप लगाते हुए सुशांत सिंह राजपूत की मौत के 38 दिन बाद सुशांत के पिता ने पटना में एफआईआर दर्ज करवाई है जबकि मौत की जगह और इस घटना से जुड़े सभी लोग, तथ्य व सबूत मुंबई से संबंधित हैं. फिर भी एफआईआर पटना में दर्ज कराई गई है जो कि कानून संगत नहीं है.

सरकार ने कहा कि सुशांत मामले की जांच मुंबई पुलिस कर रही है फिर भी उन्होंने एफआईआर दर्ज करने के लिए मुंबई पुलिस से कभी आग्रह नहीं किया और बिहार में पटना में जाकर एफआईआर दर्ज करवा दी और अगर बिहार पुलिस को एफआईआर दर्ज करनी भी थी तो वह जीरो एफआईआर दर्ज करती और फिर जांच के लिए उसे मुंबई पुलिस के पास भेजती, लेकिन बिहार पुलिस ने कानून का सही तरीके से पालन नहीं किया है.

महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि इस मामले में बिहार सरकार ने नियमों के खिलाफ जाकर काम किया गया है.

महाराष्ट्र सरकार के अलावा सुशांत के पिता ने भी अपना जवाब सुप्रीम कोर्ट में दाखिल कर दिया है जिसमें कहा गया है कि सिद्धार्थ पिठानी पहले ही रिया से प्रभावित हैं. साथ ही केके सिंह ने जांच में सहयोग न करने, कार्रवाई न करने और जांच में रुकावट डालने के लिए मुंबई पुलिस की आलोचना की है. इस मामले में अगली सुनवाई मंगलवार को होगी.

ये भी देखें-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.