Uttar Pradesh में दूर होगा रोजगार का संकट, Sweden की कंपनी ला रही बड़ी सौगात

योगी सरकार (Yogi Government) के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह का कहना है कि रोजगार और व्यापार के लिहाज से अगले कुछ महीने बहुत महत्वपूर्ण हैं. देश और दुनिया की बड़ी कंपनियां यूपी (Uttar Pradesh) में निवेश करने के लिए लगातार आगे आ रही हैं.

Uttar Pradesh में दूर होगा रोजगार का संकट, Sweden की कंपनी ला रही बड़ी सौगात

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में युवाओं को रोजगार के नए अवसर मिलने जा रहे हैं. अब राज्य के युवाओं का रोजगार का संकट दूर हो सकता है.  दरअसल, स्वीडेन (Sweden) की एक कंपनी उत्तर प्रदेश में युवाओं के लिए रोजगार की बड़ी सौगात लेकर आई है. इस कंपनी का नाम है आइकिया जो फर्नीचर और होम अप्लायंस बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है. आइकिया सिर्फ कुछ ही हफ्तों में नोएडा (Noida) में अपना आउटलेट शुरू करने जा रही है.

राज्य में 5000 करोड़ रुपए का निवेश
ये कंपनी राज्य में 5000 करोड़ रुपए का निवेश कर रही है. स्वीडेन की कंपनी अब तक 52 देशों में अपने आउटलेट खोल चुकी है. इसके जरिए उन देशों में रोजगार और व्यापार के अवसर बढ़े. योगी सरकार (CM Yogi Adityanath) ने भी युवाओं के लिए रोजगार की संभावनाओं को देखते हुए नोएडा में 47,833 वर्ग मीटर जमीन आउटलेट के लिए उपलब्ध कराई है. आइकिया का ये भारत में अपना सबसे बड़ा आउटलेट होगा.

 कंपनी राज्य में बड़ा निवेश करने की तैयारी में है. नोएडा से शुरुआत करने के बाद आइकिया (IKEA) की योजना पूर्वांचल और मध्य यूपी में कम से कम तीन बड़े आउटलेट खोलने की है.

नोएडा का सेंटर शुरू करने के साथ ही अन्य आउटलेट की योजना को अंतिम रूप दिया जाएगा. कंपनी 2025 तक योगी सरकार के साथ तय योजना के मुताबिक अपने सभी आउटलेट शुरू कर देगी. 

नौकरी के साथ खुद के व्यापार का रास्ता भी
फर्नीचर के साथ होम अप्लाएंस और फूड के क्षेत्र में भी उतर चुकी आइकिया के जरिये योगी सरकार यूपी के लोगों के लिए नौकरी के साथ ही बड़ी तादाद में खुद के व्यापार का रास्ता भी तैयार करने जा रही है. कंपनी अपने उत्पादों को ऑनलाइन बेचने के साथ ही अलग अलग शहरों में फ्रेंचाइजी और शोरूम भी खोलेगी.

China ने रची थी गलवान घाटी में हिंसा की साजिश, अमेरिकी रिपोर्ट में हुआ खुलासा
बता दें कि कंपनी ने दिसंबर 2018 में उत्तर प्रदेश सरकार के साथ नोएडा और राज्य के अन्य शहरों में 5,000 करोड़ रुपये के निवेश का समझौता किया था. उद्योग मंत्री सतीश महाना के अनुसार आइकिया को नोएडा में 47,833 वर्ग मीटर जमीन अलॉट की गई है. आइकिया ने 2016 में हैदराबाद में अपना पहला सेंटर 700 करोड़ रुपये की लागत से शुरू किया था. आइकिया कंपनी की योजना भारत में 10,500 करोड़ रुपये का निवेश कर 2025 तक कुल 25 सेंटर खोलने की है. इनमें करीब आधा हिस्सा अकेले यूपी का है.

Farmers Protest: Amit Shah ने Narendra Singh Tomar और Piyush Goyal के साथ की बैठक
रोजगार के अवसर बढ़ेंगे
यूपी चेंबर आफ कामर्स के को-चेयरमैन सतीश श्रीवास्तव कहते हैं कि अब तक दक्षिण भारत में महज दो आउटलेट खोलने वाली आइकिया को यूपी में लाकर योगी सरकार ने आर्थिक विकास की बड़ी नींव रखी है. ऐसी कंपनियों के यूपी के बाजार में उतरने से व्यापार और रोजगार तो बढ़ेगा ही लोगों को गुणवत्तापरक और विश्व स्तरीय मानक के फर्नीचर व अन्य उत्पाद कम कीमत में मिल सकेंगे. इससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे.

अगले कुछ महीने बहुत महत्वपूर्ण
योगी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह का कहना है कि रोजगार और व्यापार के लिहाज से अगले कुछ महीने बहुत महत्वपूर्ण हैं. देश और दुनिया की बड़ी कंपनियां यूपी में निवेश करने के लिए लगातार आगे आ रही हैं. राज्य सरकार इसके लिए हर स्तर पर प्रयास कर मूर्त रूप देने में जुटी है. प्रदेश के हर युवा को रोजगार और व्यापार से जोड़ने की योगी सरकार की प्रक्रिया पूरी गति के साथ आगे बढ़ रही है. एक के बाद एक कंपनियां आ रही हैं. हम आत्मनिर्भर यूपी अभियान को साकार कर रहे हैं.

इनपुट: IANS

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.