Jammu Kashmir: अनंतनाग में जमात-ए-इस्लामी के खिलाफ एक्शन, 90 करोड़ से अधिक की संपत्ति सील
topStories1hindi1459326

Jammu Kashmir: अनंतनाग में जमात-ए-इस्लामी के खिलाफ एक्शन, 90 करोड़ से अधिक की संपत्ति सील

Jamaat e Islami Property Seized: जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में प्रशासन ने प्रतिबंधित संगठन जमात-ए-इस्लामी (Jamaat e Islami) की 90 करोड़ रुपये से अधिक की कई संपत्तियों को शनिवार को सील कर दिया गया.

Jammu Kashmir: अनंतनाग में जमात-ए-इस्लामी के खिलाफ एक्शन, 90 करोड़ से अधिक की संपत्ति सील

Modi Government action against terrorism: जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में प्रशासन ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी कि जिलाधिकारी के आदेश और राज्य जांच एजेंसी (State Investigation Agency) की सिफारिश पर प्रतिबंधित संगठन जमात-ए-इस्लामी (जेईआई) की 90 करोड़ रुपये से अधिक की कई संपत्तियों को सील किया गया. अधिकारियों ने कहा कि पूरे जम्मू-कश्मीर में State Investigation Agency को प्रतिबंधित संगठन जमात-ए-इस्लामी की करोड़ों रुपये की संपत्ति मिली है. अनंतनाग में आज (शनिवार) SIA की सिफारिश के आधार पर अनंतनाग के जिलाधिकारी द्वारा नोटिफाई किए जाने के बाद 11 स्थानों पर 90 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्तियों के इस्तेमाल और प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

90 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति हुई सील

अधिकारियों के मुताबिक अलगाववादी गतिविधियों के लिए धन की उपलब्धता को रोकने और भारत की संप्रभुता के लिए शत्रुतापूर्ण आतंकवादी नेटवर्क और देश विरोधी तत्वों को खत्म करने के लिए प्रासंगिक राजस्व अभिलेखों में इस आशय की "लाल प्रविष्टि" की गई है. सील की गई संपत्तियों में आवासीय परिसर, कामर्शियल प्रेमिसेस, बाग और जमीन शामिल हैं. ये नोटिफाई (अधिसूचित) होने वाली जेईआई संपत्तियों का दूसरा सेट हैं.

188 संपत्तियों की हुई पहचान

उन्होंने कहा कि यह कार्रवाई कानून और समाज के शासन को सुनिश्चित करने के अलावा जम्मू-कश्मीर में काफी हद तक आतंकवाद के फाइनेंसिंग के खतरे को जड़ से खत्म कर देगी. अधिकारियों ने कहा कि एसआईए ने जम्मू-कश्मीर में जेईआई की 188 संपत्तियों की पहचान की है जिन्हें आगे की कार्रवाई के दौरान नोटिफाई (अधिसूचित) किया जाएगा. सरकार का यह एक्शन आतंकवाद के खिलाफ एक बड़े कदम के तौर पर देखा जा रहा है.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news