जम्मू-कश्मीर: बारामूला में आर्मी हेडक्वार्टर पर आतंकवादी हमला, 2 आतंकी मारे गए, 1 जवान के शहीद होने की खबर

जम्मू-कश्मीर के बारामूला में सेना की 46 राष्ट्रीय रायफल्स के हेडक्वार्टर पर आतंकवादियों ने रविवार रात हमला किया। आतंकवादियों ने हेडक्वार्टर में घुसने की कोशिश की लेकिन सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। जबकि एक जवान के शहीद होने की खबर है। मुठभेड़ में दो जवान घायल भी हुए हैं। आतंकवादियों ने हेडक्वार्टर के गेट पर सुरक्षा बलों पर ग्रेनेड फेंके।

जम्मू-कश्मीर: बारामूला में आर्मी हेडक्वार्टर पर आतंकवादी हमला, 2 आतंकी मारे गए, 1 जवान के शहीद होने की खबर

कश्मीर : जम्मू-कश्मीर के बारामूला में सेना की 46 राष्ट्रीय रायफल्स के हेडक्वार्टर पर आतंकवादियों ने रविवार रात हमला किया। आतंकवादियों ने हेडक्वार्टर में घुसने की कोशिश की लेकिन सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। जबकि एक जवान के शहीद होने की खबर है। मुठभेड़ में दो जवान घायल भी हुए हैं। आतंकवादियों ने हेडक्वार्टर के गेट पर सुरक्षा बलों पर ग्रेनेड फेंके। सेना ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली है और तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

आतंकवादियों ने करीब साढ़े दस बजे हेडक्वार्टर में घुसने की कोशिश की। इस दौरान सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच करीब एक घंटे तक भीषण गोलीबारी हुई।  

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक आतंकियों ने दो गुटों में हेडक्वार्टर पर हमला किया। आतंकियों ने हेडक्वार्टर में दाखिल होने के लिए गेट पर ग्रेनेड फेंके लेकिन अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाए। जवानों ने दो आतंकवादियों को बाहर ही मार गिराया।

रिपोर्टों के अनुसार  हेडक्वार्टर में किसी तरह के नुकसान होने की खबर नहीं है। हेडक्वार्टर में आतंकियों के घुसने की कोशिश नाकाम कर दी गई। घटनास्थल पर त्वरित प्रतिक्रिया दल पहुंच गया है। सेना पूरे इलाके का घेराबंदी कर तलाशी अभियान चला रही है। सेना ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में कर ली गई है।

हमले के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल ने इस हमले की जानकारी ली है।

46 राष्ट्रीय रायफल्स का हेडक्वार्टर बारामूला से हंदवाड़ा के रास्ते पर स्थित है। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद यह कश्मीर में पहला बड़ा आतंकी हमला है। कश्मीर में राष्ट्रीय रायफल्स आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाता है। यह काफी प्रशिक्षित सेना है।

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक आतंकवादी 46 राष्ट्रीय रायफल्स के कैंप के भीतर दाखिल नहीं हो पाए। आतंकवादियों ने कैंप के समीप स्थित एक पार्क के पास से अंदर दाखिल होने की कोशिश की।

यह हमला इस खुफिया सूचना के बाद हुई है कि 29 सितंबर को भारतीय सेना द्वारा किये गए लक्षित हमले के बाद जम्मू कश्मीर में सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर आतंकवादी हमला हो सकता है। यह फिदायीन हमला उरी सेना के ब्रिगेड मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले के महज एक पखवाड़े के बाद हुआ है। उरी हमले में 19 सैनिक शहीद हुए थे।