वायुसेना को मिले 3 और रफाल, फ्रांस से नॉनस्टॉप सफर कर भारत पहुंचे लड़ाकू विमान

भारतीय वायुसेना ने ट्वीट कर कहा, ‘रफाल विमानों की दूसरी खेप 4 नवंबर, 2020 को फ्रांस से उड़ान भरने के बाद बिना रुके शाम 8:14 बजे भारत पहुंची.’ रक्षा मंत्री राज‍नाथ सिंह ने भारतीय वायुसेना के इस ट्वीट को रिट्वीट किया है.

वायुसेना को मिले 3 और रफाल, फ्रांस से नॉनस्टॉप सफर कर भारत पहुंचे लड़ाकू विमान
गुजरात के जामनगर एयरबेस पर हुई लड़ाकू विमानों की लैंडिंग.

नई दिल्लीः पूर्वी लद्दाख में चीन से तनातनी के बीच बुधवार को फ्रांस से तीन राफेल विमानों का दूसरा खेप भारत पहुंचा है. वायुसेना के मुताबिक, फ्रांस से उड़ान भरने के बाद ये विमान नॉनस्टॉप गुजरात के जामनगर एयरबेस पर करीब साढ़े आठ घंटे में लैंड हुए. 3 रफाल के आने से भारतीय वायुसेना की ताकत में और इजाफा हो गया है. बता दें कि इससे पहले 28 जुलाई को पांच रफाल विमान भारत पहुंचे थे और 10 सितंबर को अंबाला में आधिकारिक तौर पर भारतीय वायुसेना में शामिल किए गए थे. 

जामनर एयरबेस पहुंचे तीन लड़ाकू विमान
भारतीय वायुसेना ने ट्वीट कर कहा, ‘रफाल विमानों की दूसरी खेप 4 नवंबर, 2020 को फ्रांस से उड़ान भरने के बाद बिना रुके शाम 8:14 बजे भारत पहुंची.’ रक्षा मंत्री राज‍नाथ सिंह ने भारतीय वायुसेना के इस ट्वीट को रिट्वीट किया है.

भारतीय वायुसेना ने जानकारी दी कि, तीन रफाल लड़ाकू विमानों ने एक फ्रांसीसी एयरबेस से उड़ान भरी. उड़ान के दौरान विमानों में 3 बार ईंधन भरा गया. सीधे फ्रांस से भारत पहुंचने में विमानों को 8 घंटे से कुछ अधिक समय लगा. यह वायुसेना की लंबी दूरी की परिचालन क्षमता का प्रदर्शन करता है.

ये भी पढ़ें-चीन से तनातनी के बीच बढ़ी भारत की ताकत, DRDO के पिनाका रॉकेट का सफल परीक्षण

4 साल पहले हुआ था करार
बता दें कि 5 रफाल विमानों की पहली खेप 29 जुलाई को भारत पहुंची थी. करीब चार साल पहले भारत ने फ्रांस सरकार के साथ 36 रफाल विमानों की खरीद के लिए 59,000 करोड़ रुपये का अंतर सरकारी करार किया था. अब इसके बाद तीन रफाल विमान जनवरी में तीन विमान मार्च में और सात रफाल विमान अप्रैल में भारत को मिल जाएंगे.

 

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.