इस राज्य में बीजेपी का जबरदस्त प्रदर्शन, नगर निकाय चुनाव में मारी बाजी
X

इस राज्य में बीजेपी का जबरदस्त प्रदर्शन, नगर निकाय चुनाव में मारी बाजी

त्रिपुरा (Tripura) में सत्तारूढ़ बीजेपी (BJP) ने राज्य में हुए निकाय में अधिकतर सीटें जीतकर शानदार प्रदर्शन किया है. वहीं टीएमसी ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाया है.

इस राज्य में बीजेपी का जबरदस्त प्रदर्शन, नगर निकाय चुनाव में मारी बाजी

अगरतला: त्रिपुरा (Tripura) में सत्तारूढ़ बीजेपी (BJP) ने राज्य में हुए निकाय में अधिकतर सीटें जीतकर शानदार प्रदर्शन किया है. बीजेपी ने 51 सदस्यीय अगरतला नगर निगम (AMC) की सभी सीटें जीतकर विपक्षियों को हैरान कर दिया. बीजेपी ने टीएमसी और वाम दलों को पछाड़ते हुए अगरतला नगर निगम और 13 अन्य निकायों में शानदार प्रदर्शन किया. इन निकायों में सत्ताधारी दल ने 334 सीटों में से 329 सीटें जीत ली हैं.

राज्य निर्वाचन आयोग (Tripura Municipal Corporation Election Result 2021) ने बताया कि बीजेपी ने 15 सदस्यीय खोवाई नगर परिषद, 17 सदस्यीय बेलोनिया नगर परिषद, 15 सदस्यीय कुमारघाट नगर परिषद और 9 सदस्यीय सबरूम नगर पंचायत के सभी वार्ड में जीत हासिल की. इसके साथ ही बीजेपी ने 25 वार्ड वाले धर्मनगर नगर परिषद, 15 सदस्यीय तेलियामुरा नगर परिषद और 13 सदस्यीय अमरपुर नगर पंचायत में विपक्षी दलों का सूपड़ा साफ कर दिया.

बीजेपी ने लहराया परचम

बीजेपी (BJP) ने सोनामूरा और मेलाघर नगर पंचायत की सभी 13-13 सीटों पर जीत हासिल कर ली. उसने 11 सदस्यीय जिरानिया नगर पंचायत में भी विजय प्राप्त की. पार्टी ने अंबासा नगर परिषद की 12 सीटों पर जीत हासिल की, जबकि तृणमूल और माकपा ने एक-एक सीट जीती. वहीं एक अन्य सीट निर्दलीय उम्मीदवार के पास गई. बीजेपी ने कैलाशहर नगर परिषद की 16 सीटों पर जीत हासिल की, जबकि माकपा को एक सीट मिली. पानीसागर नगर पंचायत में भाजपा 12 सीटों पर विजयी हुई, जबकि माकपा ने एक सीट पर जीत दर्ज की. पार्टी के शानदार प्रदर्शन पर पीएम मोदी ने भी बधाई दी है.

पार्टी ने उतारे थे 334 कैंडिडेट्स

बीजेपी (BJP) ने राज्य के नगर निकायों की सभी 334 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे. इनमें से 112 कैंडिडेट्स ने निर्विरोध जीत हासिल की. वहीं बाकी 222 सीटों के लिए 25 नवंबर को मतदान हुआ था. इस चुनाव में बीजेपी, तृणमूल कांग्रेस और माकपा आमने-सामने थीं. तृणमूल कांग्रेस खुद को एक राष्ट्रीय पार्टी के रूप में उभारने के लिए पूर्वोत्तर और दूसरे स्थानों पर अपनी पैठ जमाना चाहती है. वहीं माकपा को कुछ वर्ष पहले बीजेपी ने त्रिपुरा की सत्ता से हटाया था.

TMC ने चुनाव में धांधली और डराने-धमकाने का आरोप लगाते हुए इलेक्शन को रद्द करने की मांग की थी. वहीं माकपा ने AMC समेत 5 नगर निकायों में नए सिरे से चुनाव कराने की मांग की थी. दोनों दलों ने दावा किया था कि बीजेपी समर्थकों ने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों पर हमला किया और चुनाव में धांधली की. वहीं बीजेपी ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया है.

TMC ने हायर किए भाड़े के लोग- घोष

चुनाव में बीजेपी के शानदार प्रदर्शन पर पार्टी उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि त्रिपुरा (Tripura) नगर निकाय चुनाव के परिणामों ने पूर्वोत्तर राज्य में पैठ जमाने के तृणमूल कांग्रेस के दावों के खोखलेपन को उजागर कर दिया है और राज्य के लोगों को भाजपा पर भरोसा है. घोष ने कहा कि त्रिपुरा में चुनाव प्रचार करने वाले तृणमूल कार्यकर्ता असल में ‘भाड़े के लोग’ थे. उन्होंने दावा किया कि बीजेपी और राज्य के लोगों के बीच मजबूत संबंध है.

ये भी पढ़ें- विपक्षी एकता में पड़ी दरार! इस दल ने कांग्रेस से किया किनारा, सामने आई ये वजह

उन्होंने कहा कि TMC त्रिपुरा (Tripura) में अपना खाता तब तक नहीं खोल सकती, जब तक बीजेपी (BJP) किसी सीट से उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला करे. दिलीप घोष ने कहा, ‘नगर निकाय चुनाव के परिणाम उम्मीद के अनुसार आए हैं. तृणमूल के त्रिपुरा में खाता खुलने के कोई आसार नहीं हैं. उन्होंने केवल शोर मचाया. यह जनादेश दर्शाता है कि पश्चिम बंगाल से आए भाड़े के लोग ऐसे राज्य में किसी पार्टी को अपना आधार बनाने में मदद नहीं कर सकते, जिसका बीजेपी पर भरोसा है.’

LIVE TV

Trending news